Amit Shah Hindi News: गृह मंत्री अमित शाह और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा पाए गए कोरोना पॉजिटिव

Amit Shah Hindi News: गृह मंत्री अमित शाह, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (Karnataka’s CM BS Yediyurappa) सहित कई बड़े नेता हुए कोरोना वायरस से संक्रमित

कोरोनावायरस अब आम आदमी से खास आदमी तक पहुंचने लगा है

Table of Contents

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित , कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (Karnataka’s CM BS Yediyurappa) ,उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए गए हैं।

गृह मंत्री अमित शाह कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में हैं भर्ती , AIIMS से जाएगी डॉक्टरों की टीम

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर दी कोरोना पॉजिटिव की जानकारी

गृह मंत्री ने ट्वीट में बताया कि उन्होंने शुरुआती लक्षण दिखने के बाद जांच कराई थी जिसमें वह कोविड-19 (Covid-19) से संक्रमित पाए गए हैं। शाह ने बताया कि उनकी तबियत ठीक है लेकिन वह डॉक्टर्स की सलाह पर अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। गृह मंत्री ने हाल ही में संपर्क में आए सभी लोगों से जांच कराने के लिए भी कहा है। मेरा अनुरोध है कि आप में से जो भी लोग गत कुछ दिनों में मेरे संपर्क में आए हैं, कृपया स्वयं को आइसोलेट कर अपनी जांंच करवाएं।”

  • मंत्री अमित शाह ने शुरुआती लक्षण दिखने पर कराया था टेस्‍ट
  • अमित शाह के आवास पर कार्यरत सभी सरकारी और गैर सरकारी कर्मचारियों को कोरोना वायरस से संबंधित मेडिकल जांच करवाने का आदेश दिया गया है।
  • सभी कर्मचारियों और अधिकारियों को होम आइसोलेशन में रहने की हिदायत दी गई है।
  • कुछ कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट कर करवाया गया था बाकी के कर्मचारियों का मेडिकल टेस्ट आज होगा।
  • गृह मंत्री के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद तमाम नेता और प्रशंसक उनके जल्द ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं।
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लिखा है- “अमित जी, हर चुनौती के सामने आपकी दृढ़ता और इच्छाशक्ति एक मिसाल रही है। कोरोना वायरस की इस बड़ी चुनौती पर भी आप निश्चित रूप से विजय प्राप्त करेंगे, ऐसा मेरा विश्वास है।

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को करीब से मॉनिटर कर रहे थे अमित शाह

Amit Shah Hindi News: देश में टोटल कोरोना मामलों की संख्‍या 17 लाख के पार है। देश में कोविड-19 की शुरुआत से ही शाह लगातार देख रेख में लगे थे। राजधानी दिल्‍ली की स्थिति को उन्‍होंने खुद अपनी टीम के साथ देखा। उन्‍होंने दिल्‍ली में कई कोविड केयर सेंटर्स और अस्‍पतालों का दौरा किया था। वह गृह और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारियों संग बैठक कर कोविड-19 की ताज़ा स्थिति पर जानकारी लेते थे। लॉकडाउन के बाद देश में अनलॉक की प्रक्रिया को लेकर गाइडलाइंस तैयार करवाने में भी शाह की अहम भूमिका रही है।

अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे गृह मंत्री अमित शाह

 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के हाथों भूमि पूजन होना है और पहले भूमि पूजन कार्यक्रम में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) शामिल होने वाले थे जो अब नहीं होंगे।

एम्स से मेंदाता जाएगी डाक्टरों की टीम

  • एम्स अस्पताल के निदेशक रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में कई डॉक्टरों की टीम गुरुग्राम (Gurugram) के मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) जाएगी।
  • रविवार शाम करीब चार बजकर 24 मिनट पर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह गुरूग्राम स्थित मेदांता अस्पताल पहुंचे और वहां डाक्टरों की सलाह पर भर्ती हुए।
  • मेदांता अस्पताल की वरिष्ठ डॉक्टर सुशीला कटारिया और उनके मार्गदर्शन में डॉक्टरों की टीम अमित शाह का इलाज कर रही है।
  • मेदांता अस्पताल स्थित 14वीं मंजिल पर कमरा नंबर चार हजार तीन सौ दस में अमित शाह भर्ती हैं।

बाल गंगाधर तिलक की 100वीं पुण्यतिथि के कार्यक्रम में शामिल हुए थे

अमित शाह 1 अगस्त, शनिवार को आईसीआर के एक वेबिनार कार्यक्रम में हिस्सा लेने गए थे। जहां लोकमान्य तिलक की 100वीं पुण्यतिथि पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। उस कार्यक्रम से लौटने के बाद से ही उनकी तबीयत खराब हुई थी, जिसके बाद उन्होंने कोरोना वायरस से संबंधित अपनी मेडिकल जांच करवाई , जिसमें उनकी मेडिकल रिपोर्ट पॉजिटिव आई ।

सोशल मीडिया पर कई नेताओं ने उनके जल्दी स्वस्थ होने की कामना की। जिसमें बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस (Devendra Fadanvis) , भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda), रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh), चिराग पासवान, जीतनराम मांझी, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे , सुब्रमण्यम स्वामी इत्यादि हैं।

Amit Shah Hindi News: अमित शाह का परिचय

Amit Shah Hindi News: अमित अनिलचंद्र शाह (जन्म 22 अक्टूबर 1964) एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं जो वर्तमान में गृह मामलों के मंत्री के रूप में कार्यरत हैं। उन्होंने 2014 से 2020 तक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया। वह गांधीनगर से 2019 के भारतीय आम चुनावों में संसद, लोकसभा के निचले सदन के लिए चुने गए थे। इससे पहले, उन्हें 2017 में गुजरात से, संसद के ऊपरी सदन, राज्य सभा के सदस्य के रूप में चुना गया था।

अमित शाह ने 54 वर्ष की आयु में गृह मंत्री पद के लिए शपथ ली, वह पूर्णकालिक गृह मंत्री हैं। वह भाजपा के मुख्य रणनीतिकार और नरेंद्र मोदी के करीबी सहयोगी हैं। अमित शाह को सरकार द्वारा जे़ड प्लस सुरक्षा दी गई है। इनकी सुरक्षा के लिए 25 कमांडो इनके साथ रहते हैं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा भी हुए कोरोना वायरस पाज़िटिव

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने ट्वीटर पर ट्वीट कर बताया है कि उनकी तबियत ठीक है लेकिन डॉक्टरों के कहने पर वह एहतियातन अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने हाल ही में अपने संपर्क में आए सभी लोगों से अपनी सेहत का ध्यान रखने और सेल्फ क्वारंटाइन होने की भी अपील की है। येडियुरप्पा ने ट्वीट किया कि मैं कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया हूं। वैसे मैं ठीक हूं लेकिन एहतियात और डॉक्टरों के कहने पर मैं अस्पताल में भर्ती हो रहा हूं। मैं, हाल में मेरे संपर्क में आए सभी लोगों से अपनी सेहत का ध्यान रखने और सेल्फ क्वारंटाइन होने की गुजारिश करता हूं।

उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह कोविड 19 पाज़िटिव

वहीं उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) को भी कोविड-19 की पुष्टि हुई है और वह डॉक्टरों की सलाह पर घर में आइसोलेशन में रह रहे हैं।

तकनीकी शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण का कोरोना से निधन

उत्तर प्रदेश की तकनीकी शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण का लखनऊ स्थित संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (SGPGI) में रविवार सुबह निधन हो गया। वह कोरोना वायरस से संक्रमित थीं। कानुपर में उनके पार्थिव शरीर की शाम में कोविड-19 प्रोटोकॉल (Covid-19 Protocal) के अनुसार अंत्येष्टि की गई।

भारत की आबादी लगभग 130 करोड़ से अधिक है और आने वाले दिनों में अनुमान लगाया जा रहा है कि कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 35 लाख तक पहुंच सकता है। चीन से फैले कोरोना वायरस का अभी तक न तो कोई पुख्ता इलाज ही सामने आया है, न तो कोई दवा अभी तक बन पाई है, न ही इसकी रोकथाम के लिए कोई टीका (vaccine) ही बन पाया है। रोज़ रोज़ समाचारों के माध्यम से विभिन्न देशों द्वारा टीका बनाए जाने का दावा किया जाता है परंतु अभी यह भी परीक्षण स्टेज पर चल रहा है।

भारत में जब कोरोना दस्तक दे रहा था तभी जगतगुरु तत्त्वदर्शी संत रामपाल जी के शिष्यों ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी को ईमेल व पत्रों के ज़रिए कोरोना वायरस को खत्म करने का पक्का इलाज लिखित बता दिया था कि इस बीमारी का निवारण और इलाज केवल संत रामपाल जी महाराज जी अपने आध्यात्मिक ज्ञान द्वारा कर सकते हैं। परम संत के वचन में शक्ति होती है । परम संत के शिष्य सदा सच कहते और बताते हैं।

संत सदा मानव कल्याण का आशीर्वाद देते हैं। कोरोना वायरस का सौ प्रतिशत इलाज आध्यात्मिक ज्ञान से जुड़ा है। यदि प्रधानमंत्री जी एक बार संत रामपाल जी से व्यक्तिगत तौर पर जाकर मिलें और उनसे महामारी को समाप्त करने के लिए प्रार्थना करेंगे तो शत प्रतिशत मृत्यु के देवता को फैलने से रोका जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *