Mahatma Gandhi death Anniversary 2020 in Hindi: History, Essay, Photos, Quotes

mahatma-Gandhi-death-anniversary-2020-images-quotes-history-photos-essay-Hindi

आज देश में सायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जो राष्ट्रीयपिता Mahatma Gandhi को नहीं जानता होगा। आज हम आप को इस ब्लॉग के माध्यम से Mahatma Gandhi death Anniversary 2020 in Hindi: History, Photos, Quotes, essay से परिचित करवांगे।

Mahatma Gandhi death Anniversary 2020 in Hindi

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 30 जनवरी 1948 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. आज बापू की पुण्यतिथि (Mahatma Gandhi Death Anniversary 2020) के मौके पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है. बापू की हत्या नाथूराम विनायक गोडसे (Nathuram Godse) ने की थी. गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को बापू का सीना उस वक्‍त छलनी कर दिया जब वे दिल्‍ली के बिड़ला भवन में शाम की प्रार्थना सभा से उठ रहे थे.

गोडसे ने बापू जी के साथ खड़ी महिला को अचानक हटाया और अपनी सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल से एक बाद के एक तीन गोली मारकर महात्मा गाँधी जी की हत्‍या कर दी. नाथूराम गोडसे को महात्मा गांधी की हत्या करने के तुरंत बाद ही गिरफ्तार कर लिया गया. इसके बाद उस पर शिमला की अदालत में ट्रायल चला. नाथूराम गोडसे को 8 नवंबर, 1949 को फांसी की सजा सुनाई गई थी.

गांधी (Mahatma Gandhi) की हत्या के बाद उनके पुत्र देवदास गांधी नाथूराम से मिलने पहुंचे. इसके संदर्भ में नाथूराम गोडसे के भाई  ने अपनी किताब मैंने गांधी वध क्यों किया में लिखा है, ”देवदास (गांधी के पुत्र) शायद इस उम्मीद में आए होंगे कि उन्हें कोई वीभत्स चेहरे वाला, गांधी के खून का प्यासा कातिल नजर आएगा, लेकिन नाथूराम सहज और सौम्य थे. उनका आत्म विश्वास बना हुआ था. देवदास ने जैसा सोचा होगा, उससे एकदम उलट.”

Mahatma Gandhi death History in Hindi

आइये ब्लॉग में आगे बढ़ते है और आप को Mahatma Gandhi death History in Hindi से परिचत करवाते है। नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के उस फैसले के खिलाफ था जिसमें वह चाहते थे कि पाकिस्तान को भारत की तरफ से आर्थिक मदद दी जाए, क्योंकि बापू जी का मन्ना था की वह भी हमारे भाई बहन है, इसके लिए बापू ने उपवास भी रखा था. उसे (godse को) यह भी लगता था कि सरकार की मुस्लिमों के प्रति तुष्टीकरण की नीति गांधीजी के कारण है.

नाथूराम गोडसे ने गांधी की हत्या क्यों की थी?

नाथूराम गोडसे का मानना था कि भारत के विभाजन और उस समय हुई साम्प्रदायिक हिंसा में लाखों हिन्‍दुओं की हत्या के लिए महात्मा गांधी जिम्मेदार थे. गोडसे ने दिल्ली स्थित बिड़ला भवन में बापू की हत्या की थी. 30 जनवरी 1948 की शाम नाथूराम गोडसे बापू के पैर छूने बहाने झुका और फिर बैरेटा पिस्तौल से तीन गोलियां दाग कर उनकी हत्या कर दी थी.

Also Read: Subhash Chandra bose 2020 in Hindi: Jayanti, Quotes, Essay, Speech

Mahatma Gandhi Death Anniversary: भारत देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) ने जब 18 जनवरी 1948 को अपना अंतिम उपवास समाप्त करने के ठीक नौ दिन बाद और 30 जनवरी 1948 को अपनी हत्या से तीन दिन पहले दिल्ली में शांति लाने के उद्देश्य से महरौली स्थित कुतुबुद्दीन बख्तियार काकी दरगाह गए थे.

Mahatma Gandhi death Video Credit: BBC Hindi

Mahatma Gandhi Essay in Hindi

देश की आजादी के राष्ट्रपिता के नाम से सम्मानित महात्मा गांधी जी की जितनी महिमा की जाये सायद वो कम है। वो केवल हमारे देश के लिए नहीं अपितु समस्त विश्व के लिए एक उदाहरण हैं। वह सत्य और अहिंसा की मूरत है। उनके द्वारा दिखाये रास्ते को पूरी दुनिया मानती और अनुकरण करती है।

Mahatma Gandhi Essay in Hindi: बापू के नाम से विश्व प्रसिध्द महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। उनके पिता का नाम करमचंद गांधी था तथा इनकी माता का नाम पुतलीबाई था। वो बहुत ही धार्मिक विचारों की महिला थी। उनका समाज में रुतबा हुआ करता था। मोहनदास अपने माता-पिता की अकेली संतान थे। जिस कारण उनका लालन-पालन बहुत अच्छे से हुआ।

मोहनदास करमचंद्र गाँधी बचपन में पढ़ाई में अच्छे नहीं थे। उन्हें गणित तो बिलकुल समझ में नहीं आती थी। धीरे-धीरे उन्होंने ये बात स्वीकार भी कर ली। किन्तु पिता के डर के कारण न चाहते हुए भी करना पढ़ना पड़ता था। वो बचपन में बेहद शर्मीले और शांत स्वभाव के थे। कोई बचपन में उनको देखकर ये अन्दाजा भी नहीं लगा सकता था कि ये आगे चलकर यह बालक इतिहास रचेगा।

मोहनदास करमचंद्र गाँधी जी की प्राथमिक शिक्षा पोरबंदर से ही हुई। मोहनदास की आगे की पढ़ाई के लिए गांधी परिवार राजकोट शिफ्ट हो गया। जिससे बच्चे की शिक्षा बाधित न हो। राजकोट में भी पिता करमचंद को दिवान बना दिया गया। हाईस्कुल की परीक्षा राजकोट से उत्तीर्ण की। आगे की शिक्षा लेने अहमदाबाद चले गये। शिक्षा के क्षेत्र में वे एक औसत छात्र रहे। मैट्रिक के बाद, की परीक्षा उन्होंने भावनगर के शामलदास कॉलेज से बड़ी मुश्किल से पूरी की।

Mahatma Gandhi Quotes in Hindi

mahatma-gandhi-quotes-hindi-images-picture-photos

“खुद वो बदलाव बनिए जो आप दुनिया में देखना चाहते हैं”।~ महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi)

Mahatma Gandhi Quotes in Hindi

“पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे”।

महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi Quotes in Hindi)

जिस दिन से एक महिला रात में सड़कों पर स्वतंत्र रूप से चलने लगेगी, उस दिन से हम कह सकते हैं कि भारत ने स्वतंत्रता हासिल कर ली हैं।

“शक्ति शारीरिक क्षमता से नहीं आती है। यह एक अदम्य इच्छा शक्ति से आती है”।

महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi Quotes in Hindi)

“भविष्य इस बात पर निर्भर करता है कि आज आप क्या कर रहे हैं”।

“मौन सबसे सशक्त भाषण है। धीरे-धीरे दुनिया आपको सुनेगी”।

“ईश्वर अल्लाह तेरे नाम, सबको सन्मति दे भगवान
सबको सन्मति दे भगवान, सारा जग तेरी सन्तान”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *