Chandra Grahan 2020 (Last Lunar Eclipse of 2020): 30 नवम्बर को लगेगा साल का आखिरी चंद्रग्रहण

Chandra Grahan 2020 Hindi: इस बार ये चंद्रग्रहण बेहद खास माना जा रहा है. दरअसल इसी दिन कार्तिक पूर्णिमा भी है. इसी दिन कार्तिक स्नान खत्म होगा. इसके अलावा इसी दिन सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक जी का 551वां जन्मदिन भी मनाया जाएगा. बता दें, 30 नवंबर को चंद्र ग्रहण लगेगा। इसी दिन कार्तिक पूर्णिमा भी है और सोमवार का दिन है.

last Chandra Grahan 2020 november 16 hindi

Last Lunar Eclipse of 2020: साल 2020 का आखिरी चंद्र ग्रहण नवंबर महीने के आखिरी में यानी कि 30 नवंबर को लगने जा रहा है. ये चंद्रग्रहण उपच्छाया (Upachhaya) ग्रहण होगा. ये साल का चौथा चंद्रग्रहण होगा. साल 2020 में इससे पहले 10 जनवरी, 5 जून और 5 जुलाई को चंद्रग्रहण देखा गया था.

इस बार ये चंद्रग्रहण बेहद खास माना जा रहा है. दरअसल इसी दिन कार्तिक पूर्णिमा भी है. इसी दिन कार्तिक स्नान खत्म होगा. इसके अलावा इसी दिन सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक जी का 551वां जन्मदिन भी मनाया जाएगा. बता दें, 30 नवंबर को चंद्र ग्रहण लगेगा. इसी दिन कार्तिक पूर्णिमा भी है और सोमवार का दिन है.

  • ग्रहण प्रारंभ – 30 नवंबर दोपहर 1 बजकर 4 मिनट
  • ग्रहण मध्यकाल – 30 नवंबर दोपहर 3 बजकर 13 मिनट
  • ग्रहण समाप्त –  30 नवंबर शाम 5 बजकर 22 मिनट

Chandra Grahan 2020 की सूची

  • पहला चंद्र ग्रहण- 10 जनवरी  
  • दूसरा चंद्र ग्रहण-  5 जून
  • तीसरा चंद्र ग्रहण- 5 जुलाई
  • चौथा चंद्र ग्रहण- 30 नवंबर को पड़ रहा है

चंद्रग्रहण के प्रकार

  • पहला होता है कुल चंद्रग्रहण
  • दूसरा आंशिक
  • तीसरा पेनुमब्रल या उपच्छाया चंद्रग्रहण

ये है चंद्रग्रहण का धार्मिक पहलू

ग्रहण से कई धार्मिक पहलू जुड़े हुए हैं। ग्रहण के दौरान कर्मकांड का भी प्रावधान है। लेकिन अगर चंद्र ग्रहण आपके शहर में दिखाई ना दे रहा हो लेकिन दूसरे देशों अथवा शहरों में दर्शनीय हो तो कोई भी ग्रहण से सम्बन्धित कर्मकाण्ड नहीं किया जाता है।

■ Also Read: Chandra Grahan 2020: चंद्र ग्रहण पर क्या कहता है ज्योतिष शास्त्र?

क्या होता है उपच्छाया चंद्रग्रहण

पूर्ण और आंशिक ग्रहण के अलावा एक उपच्छाया ग्रहण भी होता है. उपच्छाया चंद्र ग्रहण ऐसी स्थिति को कहा जाता है जब चंद्रमा पर पृथ्वी की छाया न पड़कर उसकी उपच्छाया मात्र पड़ती है. इसमें चंद्रमा पर एक धुंधली सी छाया नजर आती है. इस घटना में पृथ्वी की उपच्छाया में प्रवेश करने से चंद्रमा की छवि धूमिल दिखाई देती है.

Video Credit: Kadak

कोई भी चन्द्रग्रहण जब भी आरंभ होता है तो ग्रहण से पहले चंद्रमा पृथ्वी की परछाई में प्रवेश करता है जिससे उसकी छवि कुछ मंद पड़ जाती है तथा चंद्रमा का प्रभाव मलीन पड़ जाता है. जिसे उपच्छाया कहते हैं। इस दिन चंद्रमा पृथ्वी की वास्तविक कक्षा में प्रवेश नहीं करेंगे अतः इसे ग्रहण नहीं कहा जाएगा.

चन्द्र ग्रहण (Chandra Grahan 2020 Hindi Timings) का स्थानीय समय

30 नवंबर को पड़ने वाला चंद्र ग्रहण दोपहर 1 बजकर 4 मिनट पर शुरू होगा और शाम 5 बजकर 22 मिनट पर खत्म होगा. ये चंद्र ग्रहण पूर्णिमा तिथि को रोहिणी नक्षत्र और वृषभ राशि में होगा.

Read in English: Lunar Eclipse: Time and Date of Lunar Eclipse 2020? 

कहां कहां दिखाई देगा

साल का ये आखिरी चंद्रग्रहण एशिया, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर और अमेरिका के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा. ये चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा. चंद्र ग्रहण के शुरु होने से 9 घंटे पहले सूतक लग जाता है. हालांकि ये चंद्र ग्रहण एक उपछाया ग्रहण है और ये भारत में दिखाई नहीं देगा, इसलिए यहां इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा

चंद्र ग्रहण का तिथि और समय

साल का आखिरी चंद्रग्रहण 30 नवंबर को दिखने वाला है. यह भारत में चंद्रग्रहण दोपहर 1 बजकर 04 मिनट पर शुरू हो जायेगा और शाम 5:22 बजे तक समाप्त होगा. जबकि, इस बीच दोपहर 3 बजकर 13 मिनट पर यह चरम पर होगा. उपछाया ग्रहण कुल 04 घंटे 18 मिनट 11 सेकंड तक भारत में दिखेगा. हालांकि, विशेषज्ञों की मानें तो चन्द्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं दे पायेगा, क्योंकि चंद्रमा क्षितिज से नीचे होगा.

भारत में नहीं दिखेगा Chandra Grahan 2020 Hindi

साल का यह आखिरी चंद्रग्रहण (Last Chandra Grahan of The Year) एशिया, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर और अमेरिका के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। यह चंद्रग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *