Cryptocurrency Prices Today: क्रिप्टो बाजार में भयंकर गिरावट, बिटकॉइन 2021 के निचले स्तर के करीब

Home Uncategorized Cryptocurrency Prices Today: क्रिप्टो बाजार में भयंकर गिरावट, बिटकॉइन 2021 के निचले स्तर के करीब
Cryptocurrency Prices Today news in hindi

Cryptocurrency prices today : शुक्रवार, 21 जनवरी 2022, को क्रिप्टोकरेंसी बाजार में जबरदस्त गिरावट आई है. ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट पिछले 24 घंटों के दौरान 7.45 प्रतिशत तक गिर गई है. बिटकॉइन पिछले साल के निचले स्तर के काफी करीब है. खबर लिखे जाने तक सबसे बड़ी करेंसी बिटकॉइन (Cryptocurrency prices today) में 7.43% की गिरावट आई और ये कॉइन $38,812.98 पर ट्रेड कर रहा था. बिटकॉइन ने पिछले 24 घंटों के दौरान $38,560.45 का Low और $43,413.02 का High बनाया. इथेरियम (Ethereum prices today) 8.50% गिरकर $2,860.99 पर ट्रेड कर रहा था. इथेरियम ने इसी समय के दौरान $2,827.73 का Low और $3,265.34 का High लगाया.

Cryptocurrency Prices Today news in hindi

क्रिप्टोकरंसी क्या है?

क्रिप्टोकरंसी डिजिटल करंसी होती है। ऑनलाइन माध्यम से दुनियाभर में इसका लेन-देन किया जा सकता है। इसे रेग्युलेट करने के लिए एनक्रिप्शन तकनीक इस्तेमाल की जाती है। इसे कोई केंद्रीय बैंक, ऋण संस्था या कोई ई-पैसा संस्थान जारी नहीं करता है। इस लिहाज से वर्चुअल करंसी एक तरीके का अनियंत्रित डिजिटल धन होता है। इसे बनाने वाले ही जारी करते हैं और नियंत्रित करते हैं। फरवरी 2018 तक भारत में क्रिप्टोकरंसी के कारोबार में 50 लाख ट्रेडर और 24 एक्सचेंज सक्रिय थे। दुनिया की कई रेग्युलेटरी संस्थाएं प्रमुख क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन में ट्रेडिंग के खिलाफ चेतावनी दे चुकी हैं, जबकि कुछ देश इसके समर्थन में हैं। 2017 में जापान ने बिटकॉइन को वैध करंसी का दर्जा दिया था।

बिटकॉइन पिछले साल की निचले स्तर के करीब

बिटकॉइन पिछले साल मतलब 2021 के अपने निचले स्तर के काफी करीब है. इस कॉइन ने सितंबर 2021 के निम्नतम स्तर को तोड़ दिया है और फिलहाल अगस्त 2021 के 37,400 डॉलर के स्तर के काफी करीब पहुंच गया है. उससे पहले जून-जुलाई 2021 में बिटकॉइन गिरकर 29,000 US डॉलर के नीचे ट्रेड कर रहा था.

कॉइन / टोकनबदलाव (% में)प्राइस
बीएनबी (BNB)-9.31%$426.73
कार्डानो (Cardano)-9.83%$1.22
सोलाना (Solana)-7.52%$126.53
XRP-6.17%$0.699
टेरा लूना (Terra LUNA)-3.66%$78.51
डोज़कॉइन (Dogecoin)-8.02%$0.1517
शिबा इनु (Shiba Inu)-6.58%$0.00002584
चेनलिंक (Chainlink)-10.80%$19.41
लाइटकॉइन (Litecoin)-10.00%$124.78
एल्गोरैंड (Algorand / ALGO)-11.16%$1.12

2 लाख रुपये तक गिरा बिटक्वाइन का दाम

Cryptocurrency Prices Today: दुनिया की सबसे पसंदीदा क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन की कीमत में शुक्रवार को भारी गिरावट देखने को मिली। इसकी कीमत में 5.89 फीसदी की भारी कमी आई। इस गिरावट के बाद इस डिजटल करेंसी की कीमत 1,98,773 रुपये तक घटकर 31,75,096 रुपये पर आ गई। इस कीमत पर बिटक्वाइन का बाजार पूंजीकरण भी गिरकर 54.7 खरब रुपये के निचले स्तर तक आ गया। बिटक्वाइन के साथ ही दुनिया की दूसरी सबसे लोकप्रिय डिजिटल करेंसी इथेरियम के दाम में भी भारी कमी आई है। इसकी कीमत 6.88 फीसदी या 17,331 रुपये टूटकर 2,34,512 रुपये रह गई। इसका मार्केट कैप 25.3 खरब रुपये रह गया।

■ Also Read: PM मोदी इस छोटे से डिवाइस से बिना रुके घंटों तक देते हैं भाषण, जानें क्यों है बेहद ख़ास Teleprompter 

Cryptocurrency Prices Today: दूसरी बड़ी डिजिटल करेंसियों में गिरावट

 दुनिया की टॉप 10 डिजिटल करेंसियों में शामिल बिटक्वाइन और इथेरियम के बाद अन्य ज्यादातर क्रिप्टोकरेंसियों के लिए शुक्रवार काला शुक्रवार बनकर सामने आया। बिनांस क्वाइन की कीमत 7.90 फीसदी कम होकर 35,112 रुपये, पोल्काडॉट का दाम 7.12 फीसदी गिरकर 1,833 रुपये, डॉजक्वाइन का दाम 5.89 फीसदी घटकर 12.47 रुपये और शीबा इनु का भाव 6.58 फीसदी की गिरावट के साथ 0.002088 रुपये पर आ गया। इसके अलावा लाइटक्वाइन की कीमत में जबरदस्त 8.27 फीसदी की गिरावट आई और इसका दाम घटकर 10,189 रुपये रह गया है।

Cryptocurrency Prices Today: भारत में सुनहरा नहीं क्रिप्टो का भविष्य

इस अनियमित बाजार को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर तक चिंता व्यक्त कर चुके हैं। भारतीय निवेशकों को सुरक्षा देने के मकसद से और इस क्रिप्टो बाजार को प्रबंधित करने के उद्देश्य से क्रिप्टो बिल भी तैयार किया गया है। हालांकि इसे संसद के शीतकालीन सत्र में पेश नहीं किया जा सका। 1 फरवरी को पेश होने वाले बजट 2022 में सरकार की ओर से क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बड़े एलान किए जाने संभव हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, भारत में निजी क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित किया जा सकता है। हालांकि, इस बारे में सब कुछ साफ क्रिप्टोकरेंसी बिल पेश होने के बाद ही साफ हो पाएगा। 

क्रिप्टोकरेंसी से डरी हुई हैं एशिया से लेकर अमेरिका तक की सरकारें

रूस का ये कदम कई देशों के क्रिप्टोकरेंसी पर लगाम लगाने के बीच आया है। एशिया से लेकर अमेरिका तक, सरकारों को चिंता है कि निजी तौर पर संचालित और अत्यधिक अस्थिर डिजिटल मुद्राएं वित्तीय और मौद्रिक प्रणालियों के उनके नियंत्रण को कमजोर कर सकती हैं। हालांकि रूस का ये कदम चौंकाने वाला इसलिए भी नहीं है क्योंकि ये देश वर्षों से क्रिप्टोकरेंसी के खिलाफ है। रूस का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल मनी लॉन्ड्रिंग या आतंकवाद के वित्तपोषण में किया जा सकता है। वैसे रूस ने 2020 में क्रिप्टोकरेंसी को कानूनी दर्जा दिया था लेकिन भुगतान के साधन के रूप में उनके इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया था।

■ Also Read: CBSE Class 10th, 12th Term 1 Exam Result 2021-2022: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं व 12वीं के टर्म 1 के परीक्षा परिणाम होने वाले है घोषित

Cryptocurrency Prices Today: Polkadot, Litecoin में भी गिरावट

वहीं, Polkadot 5.47 फीसदी की गिरावट के साथ 1,850 रुपये पर पहुंच गया है. Litecoin पिछले 24 घंटों के दौरान 7.3 फीसदी की गिरावट के साथ 10,249.68 रुपये पर आ गया है. Tether 1.01 फीसदी की तेजी के साथ 80.77 रुपये पर पहुंच गया है. दूसरी तरफ, मीमक्वॉइन SHIB में 5.11 फीसदी की गिरावट देखी गई है. जबकि, Dogecoin 5.22 फीसदी गिरकर 12.38 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. वहीं, Terra (LUNA) 2.7 फीसदी गिरकर 6,336.6 रुपये पर मौजूद है.

Credit: Yahoo Finance

सरकार की क्रिप्टोकरेंसी के लिए कानून बनाने की योजना

आपको बता दें कि सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी और रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021 संसद के शीतकालीन सत्र में पेश करने के लिए लिस्ट किया था. इसे पहले बजट सत्र के लिए भी लिस्ट किया गया था, लेकिन इसे पेश नहीं किया जा सका था, क्योंकि सरकार ने इस पर दोबारा काम करने का फैसला लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 − 16 =