Deva Gurjar Kota Murder: सैलून में हिस्ट्रीशीटर देवा डॉन की अज्ञात हमलावरों ने की हत्या

Deva Gurjar Kota Murder News लगभग डेढ़ दर्जन बदमाशों  ने किया हमला

Deva Gurjar Kota Murder: चित्तौड़गढ़ जिले के रावतभाटा में बदमाशों ने एक सनसनीखेज वारदात में हिस्ट्रीशीटर देवा गुर्जर (History sheeter Deva Gurjar) की हत्या कर दी. बदमाशों ने वारदात को अंजाम उस समय दिया जब देवा गुर्जर सैलून में बैठा था. हत्या को अंजाम देकर बदमाश फरार हो गए. वारदात से इलाके में अफरातफरी मच गई. देवा गुर्जर के शव को कोटा के एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है. वहां आज उसका पोस्टमार्टम करवाया जायेगा. वारदात की संवेदनशीलता को देखते हुये अस्पताल की मोर्चरी के आगे भारी पुलिस जाब्ता तैनात किया गया है. पुलिस पूरी तरह से अलर्ट मोड पर है. देवा गुर्जर कोटा के आरकेपुरम थाना का हिस्ट्रीशीटर था.

लगभग डेढ़ दर्जन बदमाशों  ने किया हमला 

पुलिस के अनुसार डेढ़ दर्जन से अधिक बदमाशों ने जानलेवा हमला कर दिया। हिस्ट्रीशीटर देवा गुर्जर ने कोटा के निजी अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। वही पुलिस ने कोटा एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में शव को रखवा दिया है। देवा गुर्जर की मौत के बाद गुर्जर समाज के लोग काफी आक्रोशित हो गए और मोर्चरी के बाहर भारी संख्या में लोग इकठ्ठा हो गए। जिसकी वजह से मोर्चरी के बाहर पुलिस जाब्ता भी तैनात करना पड़ा।

Deva Gurjar Kota Murder: चिकित्सकों ने घोषित किया मृत

बाद में लोगों ने सैलून की दुकान में अचेत पड़े देवा को उठाया और रेफरल अस्पताल ले गए. वहां देवा की गंभीर हालत को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद उसे कोटा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया. लेकिन परिजन उसे मेडिकल कॉलेज ले जाने के बजाय एक निजी अस्पताल ले गये. वहां पहुंचते ही चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. सूचना पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया.

कोटा के आरकेपुरम थाने का हिस्ट्रीशीटर था

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चितौड़गढ़ मुख्यालय कैलाश सांदू ने बताया कि उपचार के दौरान देवा गुर्जर की मौत हो गई है. पुलिस हमलवरों को ढूंढूनें के लिये लगातार दबिश दे रही है. चौराहे पर दुकानों पर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं. वह कोटा के आरकेपुरम थाने का हिस्ट्रीशीटर था. उसके खिलाफ अन्य थानों में भी कई प्रकरण दर्ज हैं.

Also Read: Rajasthan Diwas [Hindi]: राजस्थान दिवस | Quotes & History

Deva Gurjar Kota Murder: सैलून की दुकान पर गया था देवा गुर्जर

प्रत्यक्षदर्शियों ने जानकारी देते हुए बताया कि देवा गुर्जर अपने तीन-चार साथियों के साथ सोमवार देर शाम को रावतभाटा के कोटा बेरियर गणेश मंदिर के पास स्थित एक सैलून पर गया था। इसी दौरान सैलून पर डेढ़ दर्जन से अधिक बदमाश हथियारों से लैस होकर आ गए और उन्होंने देवा पर ताबड़तोड़ हमला शुरू कर दिया। इस दौरान बदमाशों ने देवा पर धारदार हथियारों से वार किया। जानकारी में यह भी आ रहा है कि देवा को एक गोली भी लगी है। वारदात के बाद सभी हमलावर मौके से फरार हो गए।

रावतभाटा में पुलिस फोर्स तैनात

कोटा बैरियर क्षेत्र में देवा गुर्जर की हत्या के बाद लोगों में दहशत का माहौल है। इस हत्याकांड की सूचना के बाद शाम को हजारों की संख्या में मौका पर एकत्र हो गए। देवा गुर्जर को रेफेरल अस्पताल पहुंचाया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद कोटा भेज दिया गया लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। वारदात की सूचना के बाद मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

■ Also Read: Rajasthan Police Recruitment Exam Date: राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती की परीक्षा तिथियां व केंद्र हुए जारी

सीआई राजाराम गुर्जर ने बताया कि शव को कोटा में मोर्चरी में रखवाया है। मंगलवार को पोस्टमार्टम करवाया जागएगा। पुलिस रावतभाटा क्षेत्र में दुकानों के सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है ताकि हमलावरों की सुराग लग सके।

Who Was Deva Gurjar Kota in Hindi | देवा गुर्जर कोटा कौन थे? 

यह पहले एक साथ प्रॉपर्टी में व्यवसाय किया करते थे। इसके बीच में लेनदेन को लेकर विवाद हुआ था। बताया जा रहा है कि देवा के खिलाफ भी पहले से काफी सारे मामले दर्ज थे। रावतभाटा थाने के असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर लालचंद ने बताया कि देवा गुर्जर का कोटा के बोराबास और चित्तौड़गढ़ के रावतभाटा कस्बा में मारुति नगर Maruti Nagar में मकान था।

Credit: News18 Rajasthan

देवा डॉन सोशल मीडिया पर भी था काफी एक्टिव

देवा गुर्जर उर्फ देवा डॉन सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव था। देवा कई बार फेसबुक लाइव आकर आपत्तिजनक संदेश भी जारी किए थे। उसके यूट्यूब, इंस्टाग्राम और फेसबुक पर बड़ी संख्या में फॉलोवर्स हैं। नये नये वीडियो बनाने के लिये अक्सर अपने साथ के साथ एक कैमरामैन भी रखता था।

जाम लगाकर बसों में लगाई आग

सोमवार शाम को डॉन देवा गुर्जर की मौत की खबर फैलते ही उसके समर्थकों का जुटना शुरू हो गया था। मंगलवार सुबह आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर समर्थकों ने कोटा-रावतभाटा मार्ग पर पहले तो जाम लगा दिया। इसके बाद वहां से निकल रही दो रोडवेज बसों में समर्थकों ने आग लगा दी। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने बस के स्टॉफ व कुछ सवारियों से भी मारपीट की। सूचना पर पुलिस का जाप्ता और नगर निगम की दमकल मौके पर पहुंची। निगम की दमकलों ने आग पर काबू पाया। वहीं, जाम लगने से कोटा से रावतभाटा जाने वाले व रावतभाटा से कोटा आने वाले यात्रियों को परेशानी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seventeen + nineteen =