Draupadi Murmu [Hindi]: दुखों से भरी रही है द्रौपदी मुर्मू की निजी जिंदगी, पति की मौत के बाद 2 बेटों को भी खोया

Draupadi Murmu [Hindi] बेहद लंबा और मुश्किल भरा रहा है द्रौपदी मुर्मू का सफर

Presidential Election 2022: बिहार में जेडीयू राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए की कैंडिडेट का समर्थन करेगा. एनडीए (NDA) ने मंगलवार को ही द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu in Hindi) का नाम तय किया. इसके बाद से ही यह सवाल उठ रहा था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) आखिर क्या फैसला लेंगे? नीतीश कुमार के अगर पुराने फैसलों पर ध्यान दें तो राष्ट्रपति के पिछले दो चुनावों में उन्होंने गठबंधन से अलग होकर फैसला लिया था. खास बात ये थी कि जिसका भी नीतीश कुमार ने साथ दिया उसकी जीत हो गई. इस बार समीकरण अलग नजर आ रहा है.

बेहद लंबा और मुश्किल भरा रहा है द्रौपदी मुर्मू का सफर

आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाए जाने तक का सफर बेहद लंबा और मुश्किल सफर रहा है. 20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरभंज जिले के बैदापोसी गांव में जन्मीं द्रौपदी मुर्मू आदिवासी संथाल परिवार से ताल्लुक रखती हैं.उनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू है.

Draupadi Murmu [Hindi] | पति की मौत के बाद 2 बेटों को भी खो चुकी हैं

द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) की शादी श्याम चरण मुर्मू से हुआ था और दोनों के तीन बच्चे (दो बेटे और एक बेटी) हुए. लेकिन, द्रौपदी मुर्मू का व्यक्तिगत जीवन त्रासदियों से भरा रहा है और उन्होंने अपने पति व दोनो बेटों को खो दिया. उनकी बेटी इतिश्री की शादी गणेश हेम्ब्रम से हुआ है.

पार्षद के रूप में शुरू किया अपना राजनीतिक करियर

संथाल समुदाय में जन्मीं द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) ने साल 1997 में ओडिशा के रायरंगपुर नगर पंचायत में एक पार्षद के रूप में अपना राजनीतिक करियर शुरू किया और फिर साल 2000 में वह ओडिशा सरकार में मंत्री बनीं.

Draupadi Murmu [Hindi] | BJD-BJP गठबंधन टूटने के बाद भी दर्ज की जीत

रायरंगपुर से दो बार विधायक रहीं द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) ने साल 2009 में तब भी अपनी विधानसभा सीट पर जीत हासिल की, जब बीजु जनता दल (BJD) ने ओडिशा के चुनावों से कुछ हफ्ते पहले भाजपा (BJP) से नाता तोड़ लिया था. उस चुनाव में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Naveen Patnaik) की पार्टी बीजद (BJD) ने जीत दर्ज की थी.

■ Also Read | HBSE 10th Result 2022: एक विषय में कंपार्टमेंट वालों को तीन मौके

ओडिशा के लिए गर्व का क्षण है- पटनायक 

बीजू जनता दल (बीजद) प्रमुख एवं ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने द्रौपदी मुर्मू को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राजग द्वारा राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाये जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए मंगलवार को कहा कि यह उनके राज्य के लोगों के लिए गर्व का क्षण है।

Also Read | International Yoga Day [Hindi]: घर पर रहकर परिवार के साथ करें भक्ति योग

Draupadi Murmu [Hindi] | पटनायक ने मुर्मू को उनकी उम्मीदवारी पर बधाई देते हुए ट्वीट किया, ‘‘माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने मेरे साथ इस पर चर्चा की तो मुझे खुशी हुई। यह वास्तव में ओडिशा के लोगों के लिए गर्व का क्षण है।’’ पटनायक ने कहा कि उन्हें यकीन है कि मुर्मू ‘‘देश में महिला सशक्तिकरण के लिए एक उदाहरण स्थापित करेंगी।’’ पिछले राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा ने दलित नेता रामनाथ कोविंद को अपना उम्मीदवार बनाया था और इस बार एक आदिवासी नेता को इस पद के लिए उम्मीदवार बनाकर समाज में एक संदेश देने की कोशिश की है।

मुझे इस अवसर की आशा नहीं थी : द्रौपदीमुर्मू

मुर्मू ने कहा, ‘मुझे इस अवसर की आशा नहीं थी। मैं पड़ोसी राज्य झारखंड की राज्यपाल बनने के बाद छह साल से भी ज्यादा वक्त से राजनीतिक कार्यक्रमों में हिस्सा नहीं ले रही थी। आशा करती हूं सभी मेरा साथ देंगे।’ द्रौपदी की उम्मीदवारी की घोषणा के बाद उनके पैतृक मयूरभंज जिले में खुशी का माहौल है।’ बड़ी संख्या में लोग उन्हें बधाई दे रहे हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × 1 =