भारत में क्यों मनाया जाता है Engineer’s Day क्या है इसका इतिहास?

Happy Engineers Day 2022History,Quotes, इन देशों में भी इंजीनियर्स डे

Happy Engineers Day 2022: भारत में हर साल की तरह आज का दिन (15 सिंतबर) अभियंता दिवस (इंजीनियर्स डे) के रूप में मनाया जा रहा है. आज का दिन इसलिए भी खास है क्योंकि आज महान अभियंता और भारत रत्न एम विश्वेश्वरैया (M Visvesvaraya) का जन्मदिन है, जो भारत के महान इंजीनियरों में से एक थे. उन्होंने ही आधुनिक भारत की रचना कर देश को एक नया रुप दिया है, जिसे शायद ही कोई भुला पाएं. ये दिन देश के इंजीनियरों के प्रति सम्मान और उनके कार्य की सराहना के लिए मनाया जाता है.

15 सितंबर यानी इंजीनियर डे उन लोगों को समर्पित है, जिन लोगों ने तकनीक के जरिये विकास को गति दी है. देश के कई नदियों के बांध और पुल को कामयाब व मजबूत बनाने के पीछे सर एम विश्वेश्वरैया का बहुत बड़ा हाथ है. देश में बढ़ती पानी की समस्या को भी उन्होंने ही दूर करने का प्रयास किया था. आइये जानते हैं इस दिवस से जुड़ी खास जानकारियां.

अभियंता दिवस का इतिहास (History Of Engineer’s Day)

बता दें कि भारत सरकार द्वारा साल 1968 में डॉ. एम विश्वेश्वरैया की जन्मतिथि को ‘अभियंता दिवस’ यानि कि इंजीनियर्स डे के रूप में घोषित किया गया था. उसके बाद से हर साल 15 सिंतबर को इंजीनियर्स डे मनाया जाता है. बता दें कि 15 सितंबर 1860 को विश्वेश्वरैया का जन्म मैसूर (कर्नाटक) के कोलार जिले में हुआ था. ज्ञात हो कि विश्वेश्वरैया को 1955 में भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से भी नवाजा गया था. वह कृष्ण राजा सागर डैम प्रोजेक्ट के चीफ इंजीनियर भी रहे थे.

Happy Engineer’s Day 2022 Wishes Images, Quotes, Status

  • भगवान ने इंसान को बनाया, इंजीनियरों ने इंसानों की दुनिया को बनाया, उनकी सुविधा के अनुसार.~Happy Engineers Day
  • इंजीनियर वो होते हैं जो कि अपनी कलम और दिमाग से दुनिया का अविष्कार करते हैं.
  • इंजीनियर वो होते हैं, जो अपने कलम और दिमाग से दुनिया का अविष्कार करते हैं।
  • इंजिनियर होने का यह भी एक फायदा है, परिवार और समाज में मिलता इज्जत ज्यादा है।
  • आपके महान आइडिया और नई खोजों को सलाम करते हैं, जिन्होंने हमारी ज़िंदगी को पूरी तरह से बदल दिया है.

Happy Engineers Day 2022

गौरतलब है कि एम विश्वेश्वरैया का जन्मदिन 15 सितंबर 1860 को मैसूर (कर्नाटक) में हुआ था. उन्होंने अपने निर्देशन में कई बांध बनवाए है. इसमे मैसूर में कृष्णराज सागर, पुणे का खड़कवासला जलाशय बांध और ग्वालियर का  तिगरा बांध बेहद खास है. इसके अलावा इन्हें हैदराबाद शहर की डिजाइन का श्रेय भी जाता है.

Also Read: NEET Paper Leak Latest News in Hindi

उन्होंने ने देश में बाढ़ सुरक्षा सिस्टम को विकसित किया था. इसके साथ ही विशाखापत्तनम बंदरगाह (Visakhapatnam Port) की सुरक्षा के लिए खास योजना भी इन्होंने ही बनाई थी. इन्हें कर्नाटक का जनक भी माना जाता है.

Credit: OneIndia Hindi

इन देशों में भी मनाया जाता है इंजीनियर्स डे

  • इटली – 15 जून.
  • तुर्की – 5 दिसंबर.
  • अर्जेंटीना -16 जून.
  • बांग्लादेश – 7 मई.
  • ईरान – 24 फरवरी.
  • बेल्जियम – 20 मार्च.
  • रोमानिया – 14 सितंबर.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

13 + eight =