International Human Solidarity Day 2020: क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय मानव एकजुटता दिवस, क्या है इसका इतिहास?

International Human Solidarity Day 2020: विश्व भर में 20 दिसंबर को हर साल अंतरराष्ट्रीय मानव एकजुटता दिवस के रूप में मनाया जाता है. संयुक्त राष्ट्र ने विविधता में एकता के महत्व को समझाने के लिए 22 दिसंबर 2005 को यह दिवस मनाने की घोषणा की थी. तब से अबतक हर साल 20 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय मानव एकजुटता दिवस मनाया जा रहा है.

International Human Solidarity Day hindi info

International Human Solidarity Day क्यों मनाया जाता है

  • विविधता में एकता दर्शाने के लिए
  • विभिन्न सरकारों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हुए समझौतों को याद दिलाने के लिए
  • लोगों के बीच एकजुटता के महत्व को बताने के लिए
  • सतत विकास के लिए लोगों, सरकारों को प्रेरित करने के लिए
  • गरीबी को मिटाने के नए रास्ते खोजने के लिए
  • लोगों को गरीबी, भुखमरी, बीमारियों से बाहर निकालने के लिए

अंतरराष्ट्रीय मानव एकजुटता दिवस का इतिहास

इससे पहले 20 दिसंबर, 2002 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने संकल्प 57/265 द्वारा विश्व एकजुटता कोष की स्थापना की थी, जिसे फरवरी 2003 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम के लिए ट्रस्ट फंड के रूप में स्थापित किया गया था. कोष का उद्देश्य गरीबी पर अंकुश लगाना और विकासशील देशों में मानव और सामाजिक विकास को बढ़ावा देना है.

■ Also Read: Know About Spiritual Human Rights on Human Rights Day 2020 

अंतरराष्ट्रीय मानव एकजुटता दिवस का महत्व

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय मानव एकजुटता दिवस का उद्देश्य है:

  1. विविधता में एकता दर्शाने के लिए
  2. विभिन्न सरकारों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हुए समझौतों को याद दिलाने के लिए
  3. लोगों के बीच एकजुटता के महत्व को बताने के लिए
  4. सतत विकास के लिए लोगों, सरकारों को प्रेरित करने के लिए
  5. गरीबी को मिटाने के नए रास्ते खोजने के लिए
  6. लोगों को गरीबी, भुखमरी, बीमारियों से बाहर निकालने के लिए

यूएन का कहना है कि एकजुटता की अवधारणा हमेशा से संगठन का एक निर्णायक हिस्सा रही है. संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, “संयुक्त राष्ट्र के निर्माण ने विश्व के लोगों और राष्ट्रों को एक साथ शांति, मानवाधिकारों और सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए आकर्षित किया. संगठन की स्थापना अपने सदस्यों के बीच एकता और सद्भाव के मूल आधार पर की गई थी, जो सामूहिक सुरक्षा की अवधारणा में व्यक्त की गई थी, जो अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा बनाए रखने के लिए अपने सदस्यों की एकजुटता पर निर्भर करती है.”

यह भी पढ़ें: International Peace Day in Hindi: जानिए कैसे हुई अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस की शुरुआत?

अंतरराष्ट्रीय मानव एकजुटता दिवस सतत विकास एजेंडा पर आधारित है, जो अपने आप में गरीबी, भूख और बीमारी जैसे कई दुर्बल पहलुओं से लोगों को बाहर निकालने के लिए केंद्रित है. ‘मिलेनियम डिक्लेरेशन’ को ध्यान में रखते हुए, एकजुटता को 21वीं सदी में अंतरराष्ट्रीय संबंधों के मूलभूत मूल्यों में से एक माना जाता है, जिसके तहत कम से कम लाभ उठाने वाले और सबसे अधिक मुश्किलों का सामना करने वाले लोग उन लोगों की मदद के योग्य होते हैं जिन्हें सबसे अधिक लाभ मिलता है.

Credit: United Nations

International Human Solidarity Day 2020 Quotes

हिन्दू भी सुकूँ से है मुसलमाँ भी सुकूँ से, इंसान परेशान यहाँ भी है वहाँ भी – निदा फ़ाज़ली

ख़ंजर चले किसी पे तड़पते हैं हम ‘अमीर’, सारे जहाँ का दर्द हमारे जिगर में है-अमीर मीनाई

तू हिन्दू बनेगा ना मुसलमान बनेगा, इन्सान की औलाद है इन्सान बनेगा-साहिर लुधियानवी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *