क्या है Metaverse जो बदल देगा इंटरनेट की वर्चुअल दुनिया

Home Hindi News क्या है Metaverse जो बदल देगा इंटरनेट की वर्चुअल दुनिया
Metaverse World in Hindi Metaverse जो बदल देगा इंटरनेट की वर्चुअल दुनिया

Metaverse World in Hindi: मेटावर्स क्या हैMetaverse एक ऐसा वर्चूअल दुनिया है जहां पर आपको एक अलग ही प्रकार का अनुभव होने वाला है। वैसे तो ये एक कम्प्यूटर द्वारा तैयार की गयी दुनिया है लेकिन ये हुबहू असली दुनिया से भी ज़्यादा सच्ची दिखायी पड़ती है। Metaverse को इंटर्नेट का अगला दौर कहना ग़लत नहीं होगा।

Metaverse World in Hindi Metaverse जो बदल देगा इंटरनेट की वर्चुअल दुनिया

Metaverse World in Hindi

Table of Contents

Metaverse का मुख्य उद्देस्य ही है की आपको एक अलग ही प्रकार का अनुभव प्रदान करना, जिसमें आपको लगे की आप किसी दूसरे इंसान के साथ उसके घर पर उपस्तिथ हो। फिर भले ही वो आपको दोस्त आपसे कितनी भी दूर क्यूँ ना रह रहा हो। आप इसमें एक झटके में खुद को teleport कर सकते हैं और जहां चाहें वहाँ पर पहुँच सकते हैं। फिर वो चाहे आपका ऑफ़िस हो, आपके दोस्त का घर हो या किसी फ़िल्म हॉल हो।

क्या है मेटावर्स

Metaverse World in Hindi: मेटावर्स इंटरनेट के उस चरण का विकास है, जहां पर वास्तविकता को एक वर्चुअल रूप दिया जाएगा। इस वर्चुअल दुनिया में हमारे आपके और कई लोगों के वर्चुअल अवतार या कहें प्रतिरूप होंगे, जिनसे हम 3D रूप में इंटरैक्ट करेंगे। हालांकि, मेटावर्स की इस Augmented Reality की दुनिया में एक दूसरे के साथ वर्चुअली रूप से मिलने के लिए हमारे पास वीआर (Virtual Reality) हेडसेट का होना जरूरी होगा। आज दुनिया की बड़ी टेक जायंट कंपनियां मेटावर्स में बिलियंस ऑफ डॉलर्स का इन्वेस्टमेंट कर रही हैं।

Metaverse World in Hindi: मेटावर्स शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई

नील स्टीफनसन जो अमेरिका के एक साइंस फिक्शन उपन्यासकार है, उन्होंने अपनी नोवेल “Snow Crash” में पहली बार मेटावर्स शब्द का उपयोग किया था. इस नोवेल में उन्होंने दर्शाया था कि कैसे लोग अपनी असल दुनिया से वर्चुअल दुनिया में प्रवेश करते है.

Metaverse World in Hindi: मेटावर्स हमारे जीवन में कब तक प्रवेश करेगा

मेटावर्स हमारे जीवन में कब तक आ जाएगा अभी इस बात की पुष्टि नहीं की गई है, इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा है कि इसे बनने में कुछ साल लग सकते हैं. हालांकि, ऑनलाइन खेले जाने वाले गेम्स में ये टेक्नोलॉजी कुछ हद तक आ गई है जो कि काफी नहीं है, मेटावर्स आपके हमारे सोच से परे हैं.

यह भी पढ़ें: Xiaomi 11i Hypercharge 5g की हुई धमाकेदार एंट्री, 15 मिनट में होगा फुल चार्ज, देखें कीमत और फीचर्स

फेसबुक के CEO मार्क जुकरबर्ग ने मेटावर्स को संभव करने के लिए 50 मिलियन डॉलर खर्च करने की बात की है और फेसबुक कंपनी ने इस प्रोजेक्ट के लिए 10 हजार टेक्निकल इंजीनियर को नौकरी पर रखा है.

Metaverse World in Hindi: मेटावर्स बनेगा दुनिया का बड़ा बिजनेस प्लेटफॉर्म

Metaverse World in Hindi: मेटावर्स एक वर्चुअल दुनिया होगी। संवर्धित वास्तविकता की इस दुनिया में हम सभी का एक वर्चुअल प्रतिरूप होगा। आज जिस तरह हम गेमिंग दुनिया में अपने कैरेक्टर के लिए उपकरण और उसके अलग अलग कपड़े खरीदते हैं। उसी तरह मेटावर्स की दुनिया में लोग अपने प्रतिरूप के लिए कपड़े, जूते और हेयर स्टाइल को सुधारने के लिए पैसे खर्च करेंगे। उसी के समानांतर मेटावर्स पर वो लोग भी मौजूद होंगे, जो लोगों के डिजिटल अवतारों को कपड़े बेचने, हेयर स्टाइल सुधारने की सर्विस ऑफर करेंगे। ऐसे में मेटावर्स लोगों के लिए एक बहुत बड़ा बिजनेस प्लेटफॉर्म भी बनने वाला है।

Metaverse कैसा नज़र आने वाला है?

अब जब की हमने ये तो समझ ही लिया की Metaverse क्या है? अब सवाल आता है की आख़िर Metaverse असली में कैसा नज़र आने वाला है। क्या क्या ऐसी चीज़ें होंगी जो की हमें Metaverse में नज़र आएँगी। चलिए उस विषय में जानते हैं।

Metaverse World में आसानी से अलग अलग Components के भीतर आ जा सकते हैं

आज के समय में भी हम कुछ जगहों में metaverse के components का इस्तमाल कर रहे हैं (जैसे की virtual shopping, games, casinos, और concerts), लेकिन फिर भी ऐसी ऐसी प्लाट्फ़ोर्म का अभाव अभी भी है जो की हमें अपने उसी avtar में सभी जगहों में जाने आने की सुविधा प्रदान करे।

Metaverse World in Hindi: बेहतर User Experience

Metaverse World in Hindi: एक बेहतर metaverse User Experience प्राप्त करने के लिए बेहतर टेक्नॉलजी का होना उतना ही आवश्यक होता है। अभी के दौर में हमारे पास जो high-quality virtual reality headsets, better computers, augmented reality, और faster networks उन्हें धीरे धीरे ज़्यादा बेहतर बनाना होगा। इससे हमें बेहतर से बेहतर User Experience मिलने की उम्मीद है।

Metaverse के कुछ उदाहरण

चूँकि अब आपको Metaverse क्या है और कैसे दिखने वाला है के बारे में बहुत कुछ मालूम हो गया होगा। अब चलिए जानते हैं की ऐसे ही कुछ उदाहरण जहां की आपने पहले ही Metaverse को इस्तमाल होते हुए देख लिया है।

Fortnite

पिछले कुछ वर्षों में, Fortnite के CEO, टिम स्वीनी ने, Fortnite को केवल एक खेल से अधिक के रूप में स्थापित करने के लिए स्पष्ट संदर्भ दिए हैं। 2020 में, Fortnite के भीतर रैपर ट्रैविस स्कॉट के वर्चुअल कॉन्सर्ट में 12.3 मिलियन लोगों ने भाग लिया, जिससे यह खेल का अब तक का सबसे बड़ा कार्यक्रम बन गया।

Facebook’s Horizon

Facebook अपनी विस्तारित VR दुनिया, क्षितिज (वर्तमान में बीटा में) के साथ खुद को मेटावर्स की ओर बढ़ा रहा है। फेसबुक क्षितिज को “एक सामाजिक अनुभव के रूप में वर्णित करता है जहां आप वीआर में दूसरों के साथ एक्सप्लोर कर सकते हैं, खेल सकते हैं और बना सकते हैं।

मेटावर्स से क्या कोई खतरा?

बीते कुछ दिनों में प्राइवेसी को लेकर सरकार और फेसबुक/टि्वटर के बीच कई मुद्दे उठे. इस प्रकार वर्चुअल दुनिया की बात आते ही सबसे पहले दिमाग में प्राइवेसी को लेकर कई सवाल आते हैं, हर व्यक्ति अपनी प्राइवेसी को सुरक्षित रखना चाहता है कोई भी व्यक्ति नहीं चाहेगा की कोई दूसरा व्यक्ति उसकी प्राइवेसी का हनन करें.

■ Also Read: इन खास फीचर्स के साथ Windows 11 लॉन्च, जानिए कैसे करें डाऊनलोड?

मेटावर्स वो टेक्नोलॉजी है जहां वर्चुअल और रियल दुनिया के बीच कोई फर्क नहीं रह जाएगा. ऐसे में जानी मानी बात है कि जब इतने व्यापक रूप से टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होगा तो प्राइवेसी का खतरा तो बढ़ेगा ही, कंपनी हमारे निजी बातचीत और निजी डेटा पर नियंत्रण कर सकेगी.

Metaverse World in Hindi: मेटावर्स की विशेषताएं और फायदे

मेटावर्स के हमारे जीवन में आने से उसके कुछ फायदे में मिलेंगे जो कि निम्न प्रकार है:-

  • मेटावर्स के जरिए हम अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के साथ वर्चुअली गेट टुगेदर कर पाएंगे.
  • इसकी मदद से हम किसी भी वर्चुअल कंसर्ट पर जा सकते है, किसी भी तरह की यात्रा कर सकते है, कलाकृति को देख और बना सकते है, इसके अलावा बिजनेस करना व मीटिंग अटेंड करना काफी हद तक आसान हो जाएगा वही इस तरह के काफी काम मेटावर्स के जरिए संभव हो पाएगा.
  • इसकी सहायता से हमें वर्चुअल जिंदगी और असल जिंदगी के बीच का सही अंतर समझ आएगा.
  • मेटावर्स एक तरह से इंटरनेट का अपडेट वर्जन है, इसकी सहायता से हम एक दूसरे से दूर होकर भी वर्चुअल दुनिया में एक दूसरे को छू सकते हैं, महसूस कर सकते हैं, हाथ मिला सकते हैं, जिससे वर्चुअल दुनिया की दूरी असल दुनिया से एकदम खत्म हो जाएगी.
  • इस वर्चुअल टेक्नोलॉजी के जरिए व्यक्ति हर तरह की डिवाइस यहां तक कि घर और गाड़ी जैसी चीजों को भी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के द्वारा खरीद सकेगा.

मेटावर्स के नुकसान

जब भी किसी नई टेक्नोलॉजी का आविष्कार होता है, जहाँ हमें इसका भरपूर फायदा होगा वही इसके हानिकारक प्रभाव भी भविष्य मे सामने आएंगे. लोग अपने दिन का अधिकतर समय यही बिताएंगे, वही निजी जिंदगी मे लोगों के बीच दूरियां भी हो जाएगी. इसके अलावा और भी कई खतरनाक प्रभाव देखने को मिलेंगे.

मेटावर्स से जुडे कुछ साधारण सवाल-जवाब – Metaverse FAQs

सवाल: #1 – फेसबुक का नाम कब बदला गया?

जवाब – 28 अक्टूबर 2021 को फेसबुक का नाम बदला गया.

सवाल: #2 –  मेटावर्स के जरिए हम गेट टुगेदर कर सकेंगे?

जवाब – हां, इस तकनीक के जरिए हम एक दूसरे से दूर होकर भी एक साथ गेट टुगेदर कर सकेंगे.

सवाल: #3 – मेटावर्स 3D टेक्नोलॉजी की तरह ही काम करेगा?

जवाब – हां, मेटावर्स 3D टेक्नोलॉजी की तरह ही काम करेगा.

सवाल: #4 – मेटावर्स में खुद का अवतार बना पाएंगे?

जवाब – हां, मेटावर्स के जरिए खुद का अवतार बनाना संभव होगा.

सवाल: #5 – मेटावर्स शब्द किस नोवेल से लिया गया है?

जवाब – “Snow Crash” नोवेल से लिया गया है.

10 हजार लोगों की होगी भर्ती

फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकेरबर्ग मेटावर्स को हकीकत बनाने के लिए बड़ा निवेश कर रहे हैं. इसके तहत जुकेरबर्ग यूरोपीय यूनियन से 10 हजार तकनीकी एक्सपर्ट को नौकरी देंगे और 50 मिलियन डॉलर की रकम भी खर्च करेंगे. 

जल्द ही आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस से होगी दुनिया की मुलाकात

अंकुश सभरवाल ने बताया कि आने वाले समय में हमारी दुनिया मेटावर्स के साथ-साथ WEB 3.0 को भी एक्सपीरियंस करेगी. उन्होंने बताया कि अभी तक एक व्यक्ति ही कंप्यूटर के साथ संपर्क करता आया है लेकिन WEB 3.0 में एक कंप्यूटर के साथ दूसरा कंप्यूटर संपर्क कर सकेगा. अंकुश ने बताया कि ये सभी चीजें एक-दूसरे के साथ अच्छी तरह से कनेक्टेड रहेंगी. वर्चुअल दुनिया में जाने के लिए शानदार Wearable डिवाइस आएंगे और जो अभी जो डिवाइस मौजूद हैं, उन्हें और ज्यादा बेहतर बनाया जाएगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि आने वाले समय में हम AI (आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस) को बड़े स्तर पर देखेंगे.

Metaverse World in Hindi: और कौन सी कम्पनीज मेटावर्स पर काम कर रही हैं?

Google

Google ने Google लेंस के बारे में बताया है की इसके द्वारा किसी ऑब्जेक्ट को कैप्चर करने के लिए डिवाइस के कैमरे का उपयोग किया जा सकता है फिर ये तकनीक उस फोटो को Google में सर्च करती है ताकि उसके बारे में बताया जा सके। इस तरह की प्रणाली को मेटावर्स में हेडसेट के साथ भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

Microsoft

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ने “मेटावर्स ऐप्स” की एक श्रृंखला विकसित करने के बारे में बताया था कि कंपनी “एंटरप्राइज़ मेटावर्स (Enterprise Metaverse)” बनाने के लिए काम कर रही है। इसका उपयोग एज़्योर क्लाउड कंप्यूटिंग सेवा के व्यावसायिक उपयोगकर्ताओं के लिए किया जायेगा।

Others

एपिक गेम्स अपनी मेटावर्स योजनाओं पर खर्च करने के लिए $ 1 बिलियन जुटाए हैं।
कंप्यूटिंग कंपनी Nvidia और गेमिंग प्लेटफॉर्म Roblox भी मेटावर्स योजनाओं में काम कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

6 + 19 =