World Environment Day 2022 [Hindi] : विश्व पर्यावरण पर जानिए इसका इतिहास और महत्व?

World Environment Day 2022 [Hindi] Theme, Quotes, History, Aim

Last Updated on 4 June 2022, 2:29 PM IST | विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day 2022 in Hindi) को पर्यावरण दिवस और ईको दिवस के नाम भी जाता है। ये वर्षों से एक बड़े वार्षिक उत्सवों में से एक है जो हर वर्ष 5 जून को अनोखे और जीवन का पालन-पोषण करने वाली प्रकृति को सुरक्षित रखने के लक्ष्य के लिये लोगों द्वारा पूरे विश्व भर में मनाया जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस की थीम (World Environment Day Theme 2022)

पर्यावरण दिवस की हर साल एक थीम रखी जाती है. इस साल की थीम ‘Ecosystem Restoration’ है. इस साल पाकिस्तान विश्व पर्यावरण दिवस का वैश्विक मेजबान होगा.

विश्व पर्यावरण दिवस का इतिहास (World Environment Day History)

1974 से, विश्व पर्यावरण दिवस को प्रत्येक 5 जून को एक वार्षिक कार्यक्रम के रूप में मनाया जाने लगा, ताकि मानव जीवन में स्वस्थ और हरित पर्यावरण के महत्व को बढ़ाया जा सके, सरकार, संगठनों द्वारा कुछ सकारात्मक पर्यावरणीय क्रियाओं को लागू करके पर्यावरण के मुद्दों को हल किया जा सके.

वर्ष 1972 ने अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरणीय राजनीति के विकास में एक महत्वपूर्ण मोड़ दिया: संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में बुलाई गई पर्यावरण संबंधी समस्याओं पर पहला बड़ा सम्मेलन, स्टॉकहोम (स्वीडन) में 5-16 जून तक आयोजित किया गया. यह मानव पर्यावरण पर सम्मेलन के रूप में भी जाना जाता है, या स्टॉकहोम सम्मेलन. इसका लक्ष्य मानव पर्यावरण को संरक्षित करने और बढ़ाने की चुनौती से निपटने के लिए एक बुनियादी सामान्य दृष्टिकोण बनाना था. बाद में उसी वर्ष, 15 दिसंबर को, महासभा ने एक रेसोल्यूशन के तहत 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में अपनाया.

World Environment Day 2022 [Hindi] : विश्व पर्यावरण दिवस क्यों मनाया जाता है?

दुनिया भर में वनों की कटाई, बढ़ते ग्लोबल वार्मिंग, अपव्यय और भोजन, प्रदूषण इत्यादि जैसे पर्यावरणीय मुद्दों को संबोधित करना आवश्यक है. दुनिया भर में प्रभावशीलता लाने के लिए एक विशेष थीम और स्लोगन के साथ कई अभियान आयोजित भी इस दिन किए जाते हैं.

Also Read: World Environment Day: How Corona Pandemic affected Environment? 

इस दिन को सफलतापूर्वक कार्बन तटस्थता प्राप्त करने, ग्रीनहाउस प्रभावों को कम करने, वन प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित करने, खराब (degraded) भूमि पर रोपण, सौर स्रोतों के माध्यम से ऊर्जा उत्पादन, प्रवाल भित्तियों और मैन्ग्रोव को बढ़ावा देने, नई जल निकासी प्रणाली विकसित करने इत्यादि के लिए विश्व पर्यावरण दिवसमनाया जाता है.

Credit: Navodya Times

एलेन मैकआर्थर फाउंडेशन (Ellen McArthur Foundation) द्वारा 2015 में किए गए एक अध्ययन में कहा गया है कि दुनिया में अब तक लगभग 6.3 बिलियन टन प्लास्टिक कचरा उत्पन्न हुआ है, और इसका लगभग 90% कम से कम 500 वर्षों तक विघटित नहीं होगा. वैज्ञानिकों के अनुसार मिट्टी, नल का पानी, बोतलबंद पानी, बीयर और यहां तक कि जिस हवा में हम सांस लेते हैं, उसमें माइक्रो-प्लास्टिक या छोटे टुकड़े पाए गए हैं.

विश्व पर्यावरण दिवस मनाने के पीछे का उद्देश्य

  • पर्यावरण के मुद्दों के बारे में आम लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है.
  • विभिन्न समाज और समुदायों के आम लोगों को इवेंट में सक्रिय रूप से भाग लेने के साथ-साथ पर्यावरण सुरक्षा उपायों को विकसित करने में सक्रिय एजेंट बनने के लिए प्रोत्साहित करना.
  • सुरक्षित, स्वच्छ और अधिक समृद्ध भविष्य का आनंद लेने के लिए लोगों को अपने आस-पास के परिवेश को सुरक्षित और स्वच्छ बनाने के लिए प्रोत्साहित करना.
  • पर्यावरण सब कुछ है जो मैं नहीं हूँ।”- अल्बर्ट आइंस्टाईन
  • “इन पेड़ों के लिये भगवान ध्यान देता है, इन्हें सूखे, बीमारी, हिम्स्खलन और एक हजार तूफानों और बाढ़ से बचाता है। लेकिन वो इन्हें बेवकूफों से नहीं बचा सकता।”- जॉन मुइर
  • “भगवान का शुक्र है कि इंसान उड़ नहीं सकता, नहीं तो पृथ्वी के साथ ही आकाश को भी बरबाद कर देता।”- हेनरी डेविड थोरियु
  • “कभी शंका मत करो कि विचारशील का एक छोटा समूह, समर्पित नागरिक दुनिया को बदल सकता है; वास्तव में, ये एकमात्र चीज है जो हमेशा पास है।”- मार्गरेट मीड

इस साल घर पर ही ऐसे मनाए पर्यावरण दिवस

इस साल मनाया जाने वाला पर्यावरण दिवस पिछले सालों से अलग होगा. इस वर्ष लॅाकडाउन की वजह से काफी मात्रा में प्रदूषण कम हो गया है. पिछले वर्षों तक जहां हम पर्यावण को लेकर अधिक चिंता में थे इस साल हमारी चिंताएं थोड़ा कम है क्योंकि वातावरण शुद्ध हो गया है. इसलिए इस बार का पर्यावरण दिवस पिछले वर्षों से अलग होगा. विश्व पर्यावरण दिवस को तब ही सफल बनाया जा सकता है जब हम पर्यावरण का ख्याल रखेंगे. हर व्यक्ति को ये समझना होगा कि जब पर्यावरण स्वच्छ रहेगा तब ही इस धरती पर जीवन संभव है.

Rating: 5 out of 5.

Also Read: World Earth Day [Hindi]: Theme, Quotes, History, Celebrations, Significance

Leave a Reply

Your email address will not be published.

16 − two =