Teacher’s Day 2022 [Hindi]: 5 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस? क्या है इसका इतिहास?

Teacher's Day 2022 [Hindi] क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस

Teacher’s Day 2022 [Hindi]: 5 सितंबर शिक्षक दिवस मनाया जाता है, हम हर साल इसी तारीख को शिक्षक दिवस के रूप में मनाते हैं, शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है? शिक्षक दिवस 5 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है? इस दिन किसे व क्यों याद किया जाता, और इस दिन हमें कौन सा काम जरूर से करना चाहिए, आइये जानते हैं।

शिक्षक दिवस 5 सितंबर को क्यों मनाया जाता है?

हम जानते हैं कि भारत में शिक्षक दिवस को हर साल 5 सितंबर को मनाया जाता है। इस तारीख के पीछे विशेष कारण है, इस दिन सन् 1888 को स्वतंत्र भारत के दूसरे राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म हुआ था। वे दूसरे राष्ट्रपति होने के अलावा पहले उपराष्ट्रपति, एक दार्शनिक, प्रसिद्ध विद्वान, भारत रत्न प्राप्तकर्ता, भारतीय संस्कृति के संवाहक, शिक्षाविद और हिन्दू विचारक थे।

Teacher’s Day 2022 [Hindi] | ऐसे डाउनलोड करें इमेज

  • इसके लिए सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर पर जाना होगा। 
  • इसके बाद यहां जाकर आपको टॉप सर्च बार में Teachers day wishes लिखकर सर्च करना होगा। 
  • इसके बाद रिजल्ट में सामने किसी भी एक ऐप को आप डाउनलोड कर सकते हैं। 
  • आपको यहां कुछ ऐप्स सीधे Images वाले मिलेंगे। वहीं, कुछ ऐप्स में इमेज के साथ GIFs वगैरह भी होंगे। 
  • इसके बाद आपको ऐप को ओपन करना होगा। 
  • ओपन करने के बाद आपको Enter या Greetings जैसे ऑप्शन्स नजर आ सकते हैं। 

Teacher’s Day 2022 | ऐसे बनाएं टीचर्स डे के लिए कार्ड

  • सबसे पहले स्‍क्रैपबुक पेपर को हाफ फोल्‍ड करते हुए कार्ड का शेप दें.
  •  एक दूसरे पेपर पर पसंद का फ्लावर या केक का डिजाइन बनाएं और पेपर ट्रिमर की सहायता से उसे काटकर अलग रख लें.
  •  अब कार्ड के चारों बॉर्डर पर बॉर्डर लेस चिपकाएं. इससे कार्ड को हेवी लुक मिलेगा.
  •  बॉर्डर लगाने के बाद फ्लावर या केक की कटिंग को कार्ड के बीचों-बीच चिपकाएं.
  •  कार्ड को आकर्ष‍क बनाने के लिए मोती, कांच और डिफ्रेंट शेप्‍स को फ्लावर के आसपास लगा सकते हैं.
  •  कार्ड के अंदर पसंदीदा नोट्स लिखकर और इसे लिफाफे में डालकर टीचर को दें.

Also Read | New Indian Navy Flag 2022 |बदला Indian Navy का झंडा,नए झंडे के क्या हैं मायने, जानिए सब कुछ

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन पर ही क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस

Teacher’s Day 2022 | देश के दूसरे राष्‍ट्रपति और पहले उप-राष्‍ट्रपति डॉ. राधाकृष्‍णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के तिरुमनी गांव में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था. उनका निधन 17 अप्रैल 1975 को चेन्नई में हो गया था. बता दें, डॉ. राधाकृष्‍णन को बचपन से ही पढ़ाई लिखाई का बहुत शौक था. कहा जाता है कि एक बार डॉ. राधाकृष्‍णन के छात्रों ने उनके जन्मदिन पर उनसे कहा कि क्यों न आपके जन्मदिन का आयोजन किया जाए, इस सवाल का जवाब देते हुए डॉ.

Also Read | Teachers Day [Hindi]: शिक्षक दिवस पर जानिए वर्तमान में सच्चा शिक्षक (गुरु) कौन है?

राधाकृष्‍णन ने कहा कि ‘मैं आपकी बात से खुश हूं कि आप मेरा जन्मदिन मनाना चाहते हैं, लेकिन अगर आप इस दिन को शिक्षा क्षेत्र में अपना योगदान देने वाले अध्यापकों के सम्मान के रूप में मनाएंगे तो मुझे बहुत अच्छा लगेगा’. बस तब से लेकर आज तक हर साल 5 सितंबर को डॉ. राधाकृष्‍णन के जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है. 

शिक्षक दिवस पर दो मिनट का भाषण (Teachers Day Speech 2 Minutes)

शिक्षक दिवस सबसे महत्वपूर्ण अवसरों में से एक है। इस दिन बेझिझक अपना आभार व्यक्त करें और उनकी निरंतर मदद और मार्गदर्शन के लिए शिक्षकों को धन्यवाद दें। शिक्षक शिष्टाचार सिखाने और उज्जवल भविष्य देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। शिक्षक दिवस एक शिक्षक और छात्र के लिए एक बहुत ही खास अवसर होता है। यह हर साल 5 सितंबर को शिक्षकों को सम्मान और प्यार देने के लिए मनाया जाता है। 5 सितंबर डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्ण की जयंती है जो एक महान शिक्षक और भारत के दूसरे राष्ट्रपति थे। शिक्षक राष्ट्र के विकास का मुख्य कारण हैं। वह दुनिया को बेहतर बनाने का कार्य करते हैं। शिक्षक हमें न केवल विषय पढ़ाते हैं, बल्कि वह हमें नैतिक मूल्यों की शिक्षा देकर हमें बढ़ने में भी मदद करते हैं, जो पढ़ाई से ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।

एक अच्छा शिक्षक एक मोमबत्तीकी तरह होता है, जो खुद जलकर दूसरों के लिए मार्ग प्रशस्त करता है। 1962-67 के दौरान जब डॉ राधाकृष्णन भारत के राष्ट्रपति थे, लोगों ने उनसे उनका जन्मदिन मनाने का अनुरोध किया। उन्होंने उत्तर दिया कि यदि उस दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है, तो मुझे बहुत खुशी होगी। उस दिन से भारत में हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इस दिन छात्र अपने शिक्षकों की नृत्य और गायन प्रतियोगिता, खेल और मिमिक्री का आयोजन करते हैं। पंडित जवाहर लाल नेहरू ने एक बार कहा था कि डॉ राधाकृष्णन ने देश की अच्छी सेवा की है, लेकिन सबसे बढ़कर, वह एक महान शिक्षक थे, जिन्हें हर कोई पसंद करता था। एक शिक्षक बच्चों का दूसरा अभिभावक होता है। हम हमेशा हमारा मार्गदर्शन करने और हमें सही रास्ता दिखाने के लिए शिक्षकों को धन्यवाद देना चाहते हैं। शिक्षक सभी बच्चों के लिए प्रेरणास्रोत होते हैं। हम भाग्यशाली हैं कि हमें एक मार्गदर्शक के रूप में शिक्षक प्राप्त हुआ है। मंच देने के लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं। ध्यानवाद।

शिक्षक दिवस का महत्व (Teachers Day 2022 Significance)

आज का यह दिन सभी शिक्षकों के सम्मान और आभार प्रकट करने का दिन है। देशभर में, स्कूल, कॉलेज, हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूट से लेकर कोचिंग सेंटर्स में डॉ राधाकृष्णन को श्रद्धांजलि देकर इस दिन (Teachers’ Day) को मनाया जाता है। छात्र अपने शिक्षकों को मैसेज, कार्ड और गिफ्ट देकर उनकी सराहना और आभार प्रकट करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × 5 =