Happy Independence Day In Hindi: जानिए स्वतंत्रता दिवस का इतिहास

Happy Independence Day In Hindi: स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाने वाला भारत का राष्ट्रीय त्योहार है और हम इसे बड़े उत्साह और देशभक्ति के साथ मनाते हैं। इस वर्ष हम अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। इस दिन हम उन महान योद्धाओं और स्वतंत्रता सेनानियों की स्मृति का सम्मान करते हैं जिन्होंने भारत को एक स्वतंत्र राष्ट्र बनाने के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। जैसे-जैसे भारत का 75वां स्वतंत्रता दिवस नजदीक आ रहा है और शिक्षकों द्वारा अक्सर छात्रों को शुभ दिन के लिए भाषण तैयार करने के लिए कहा जाता है। यदि आप भी एक प्रभावशाली भाषण के बनाना चाहते हैं तो इन प्वाइंट्स को जरूर पढ़ें।

Happy Independence Day 2021 [Hindi]: History, Quotes, Facts, Importance

स्वतंत्रता दिवस का इतिहास (History Of Happy Independence Day)

15 अगस्त वर्ष 1947 को भारत के इतिहास को स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया। इसी दिन देश के आजाद होने पर भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले पर झंडा फहराया था। तभी से प्रत्येक वर्ष देश के प्रधानमंत्री लाल लिखे पर झंडा फहराते है, राष्ट्रगान गाते है और सभी शहीद स्वतंत्रता सेनानियों को 21 तोपों से श्रद्धांजलि दी जाती है। देश के प्रधानमंत्री हर साल देशवासियों को अपने भाषण के द्वारा सम्बोधित करते है और सेना द्वारा अपना शक्ति प्रदर्शन और परेड मार्च करते है। स्वतंत्रता दिवस के दिन सभी भारतवासियों के मन में देशभक्ति की भावना के साथ-साथ पूर्ण जोश रहता है।

कैसा होगा इस साल स्वतंत्रता दिवस का समारोह

इस साल भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह की थीम ‘नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट’ रखी गई है. परंपरा के अनुसार स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को संबोधित करेंगे. ये लगातार आठवीं बार होगा जब प्रधानमंत्री लाल किले से अपना भाषण देंगे. टोक्यो ओलंपिक के पदक विजेता सभी एथलीटों को इस आयोजन के लिए स्पेशल इंविटेशन भेजा गया है. कोरोना महामारी के चलते पिछले साल की तरह इस साल भी आयोजन में भी लोगों की एंट्री प्रतिबंधित रहेगी और किसी तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे.

स्वतंत्रता दिवस का महत्व (Importance of Independence Day )

स्वतंत्रता दिवस केवल एक दिन विशेष नहीं बल्कि, देश के उन असंख्य स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति हमारे सम्मान को प्रदर्शित करने का जरिया भी है जिन्होंने देश को आजाद कराने के लिए अपना सर्वस्व त्याग दिया था. ये दिन राष्ट्र के प्रति अपनी एकजुटता और निष्ठा दिखने का दिन भी है. साथ ही ये पावन अवसर युवा पीढ़ी को राष्ट्र की सेवा के लिए प्रेरित करता है. राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों को समझने और देशभक्ति का महत्व समझने के लिए ये स्वतंत्रता दिवस हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है.

स्वतंत्रता दिवस भाषण के लिए कुछ लाइन (Short Lines About Independence Day Speech)

  • भारत को 15 अगस्त, 1947 को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता मिली।
  • आजादी से पहले भारत एक ब्रिटिश उपनिवेश था और उस अवधि के दौरान हमारे लोगों ने बहुत कुछ सहा है और अपने प्राणों की आहुति दी है।
  • स्वतंत्रता के बाद जन्म लेने वाले लोगों को गर्व महसूस करना चाहिए क्योंकि वे स्वतंत्र भारत में जन्म लेने के लिए भाग्यशाली हैं। इसलिए उन्हें हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को स्वीकार करना चाहिए।
  • आजादी के बाद, हमें अपना संविधान मिला और हम अपने मौलिक अधिकारों का आनंद लेने में सक्षम हैं।
  • हम सभी को एक भारतीय होने पर गर्व होना चाहिए, और हमें अपने भाग्य की प्रशंसा करनी चाहिए कि हम स्वतंत्र भारत की भूमि में पैदा हुए हैं।
  • 1857 से 1947 तक, इतिहास ने हमारे महान नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों के कई विद्रोह और बलिदान को देखा है।
  • हमें उन सभी स्वतंत्रता सेनानियों जैसे महात्मा गांधी, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद और लाखों अन्य लोगों के बलिदानों को नहीं भूलना चाहिए, जिनके नाम भी ज्ञात नहीं हैं, लेकिन उन्होंने भारत को अंग्रेजों के औपनिवेशिक शासन से मुक्त करने के लिए संघर्ष किया।
  • हमें गांधीजी के अहिंसा दर्शन जैसे स्वतंत्रता सेनानियों की शिक्षाओं को याद रखना चाहिए और अपने जीवन में उसका पालन करना चाहिए।
  • स्वतंत्रता दिवस के इस शुभ अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है।
  • देश भर के लोगों द्वारा राष्ट्रगान गाया जाता है।

भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन के विख्यात स्वतंत्रता सेनानी

भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन में देश के हर जाति, धर्म और तबके लोगों ने हिस्सा लिया. इन लोगों का नेतृत्व करने की जिम्मेवारी जिन लोगों ने उठायी उनके नाम अक्सर याद किये जाते हैं. महात्मा गाँधी के साथ इन स्वतंत्रता आन्दोलन में लाला लाजपत राय, बाल गंगाधर तिलक, गोपालकृष्ण गोखले, श्री औरोबिन्दो घोष, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, भगत सिंह, चन्द्रशेखर आज़ाद, सूर्यसेन, बटुकेश्वर दत्त आदि थे.

Also Read: World Elephant Day 2021: विश्व हाथी दिवस पर क्यों मनाया जाता है यह दिन, क्या है इसका इतिहास?

हालाँकि इनमे भगत सिंह, चन्द्रशेखर आज़ाद, बटुकेश्वर दत्त आदि महात्मा गाँधी के अहिंसात्मक मार्ग पर चलने के लिए तैयार नहीं थे, इन्हें भारत की आज़ादी किसी भी क़ीमत पर चाहिए थी. इसी तरह से नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने भी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के लिए अपना अलग रास्ता तैयार किया और आज़ाद हिन्द फौज की स्थापना की.

भारत में स्वतंत्रता के तुरंत पहले की स्थिति

स्वतंत्रता के पूर्व इंडियन नेशनल कांग्रेस की तरफ से ब्रिटिश शासन के समक्ष पूर्ण स्वराज की मांग रखी गयी. इसी दौरान 26 जनवरी को भारत की आज़ादी मनाई गयी. इसी समय कांग्रेस ने भारत वासियों से ये अपील की कि वे सविनय अवज्ञा आन्दोलन में अपना योगदान दें. इस आंदोलन में एक बड़ी संख्या में भारत वासियों ने हिस्सा लिया और आन्दोलन को सफ़ल बनाया. विभिन्न तरह के आन्दोलनों से ब्रिटिश सरकार को यह लगने लगा कि भारत पर अब उनका शासन कर पाना मुश्किल है. इस समय ब्रिटिश सरकार कमज़ोर पड़ने लगी.

भारत में इंडिपेंडेंस डे क्यों मनाया जाता है

भारत को स्वतंत्रता मिलने के कुछ कारण थे. इसकी पहली वजह ये थी कि हाल ही में द्वीतीय विश्व युद्ध की समाप्ति हुई थी. इस युद्ध में ब्रिटेन को कई तरह की परेशानियां झेलनी पड़ रही थी. उनकी अर्थनीति कमज़ोर पड़ गयी थी. द्वितीय विश्वयुद्ध में भारत के लोगों को ज़बरदस्ती ब्रिटेन के सेना में भर्ती करके लड़ने भेजा गया. जबकि द्वितीय विश्व युद्ध में भारत की कोई भूमिका नहीं थी. इस वजह से यहाँ के लोगों में इस बात को लेकर भी आक्रोश बढ़ता जा रहा था. देश भर में लगभग हर स्थान पर स्वतंत्रता की लड़ाई छिड़ चुकी थी. ब्रिटेन हुकूमत हर तरह से पस्त थी और भारतीय आवाम को अपने क़ाबू में रखने में पूरी तरह से असमर्थ थी. देश के लगभग हर क्षेत्र के लोगों ने सरकार के ख़िलाफ़ बग़ावत करनी शुरू कर दी थी.

Happy Independence Day Quotes in Hindi

  • कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना, कभी तपती धूप में जल के देख लेना, …
  • वतन पर जो फिदा होगा, अमर वो हर नौजवान होगा, …
  • दिन दूर नहीं खंडित भारत को पुनः अखंड बनाएंगे, …
  • चलो फिर से वो नजारा याद कर लें

इंडिपेंडेंस डे मनाने का तरीका (Happy Independence Day Celebration)

भारत में स्वतंत्रता दिवस का पालन पूरे देश भर में धूम धाम से होता है. इसे निम्न तरह से मनाया जाता है.

  • इस दिन सभी लोग अपने धर्म, जाति से परे एक साथ तिरंगे के नीचे आते हैं. इस दिन दिल्ली के लाल किले पर देश के तात्कालिक प्रधानमन्त्री तिरंगा फहराते हैं और वहीँ से समस्त भारतवासियों को संबोधित करते हैं.
  • झंडोत्तोलन के बाद देश भर में राष्ट्र गान गाया जाता है. इस अवसर पर झंडे को 21 तोपों की सलामी दी जाती है.
  • इस दिन देश के कई सरकारी तथा ग़ैरसरकारी संस्थानों में देश के विभिन्न संस्कृतियों पर आधारित कार्यक्रम किये जाते हैं और देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया जाता है. कई बड़े संस्थानों को पूरी तरह से सुसज्जित कर दिया जाता है.
  • इस दिन दिल्ली के राजमार्ग पर कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. इस आयोजन में भारत के तीनों मुख्य सेनाएं जल सेना, थल सेना और वायु सेना के जवान अपने करतब दिखाते हैं.
  • इस दिन भारत के समस्त राज्यों में भी इसी तरह के आयोजन किये जाते हैं, जहाँ पर राज्य के मुख्यमंत्री अपना वक्तव्य लोगों के समक्ष रखते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *