Hindi Diwas 2022: क्यों मनाया जाता है हिन्दी दिवस, क्या है इसका इतिहास?

Hindi Diwas 2022 (हिंदी दिवस) Date, Essay, History & Quotes

आज हम आपको Hindi Diwas 2022 (हिंदी दिवस) के अवसर पर हिंदी दिवस पर Short निबंध (Essay), Hindi Diwas quotes, Hindi Diwas के इतिहास की जानकारी देंगे.

क्यों मनाया जाता है हिन्दी दिवस

आजादी मिलने के दो साल बाद 14 सितबंर 1949 को संविधान सभा में एक मत से हिंदी को राजभाषा घोषित किया गया था।  इस निर्णय के बाद हिंदी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिए राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर 1953 से पूरे भारत में 14 सितंबर को हर साल हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। 14 सितंबर 1953 को पहली बार देश में हिंदी दिवस मनाया गया। 

क्या है हिंदी दिवस का इतिहास?

Hindi Diwas 2022 | हिंदी देवनागरी लिपि में लिखी गई एक इंडो-आर्यन भाषा है। जिसे साल 1949 में संविधान सभा ने भारत की आधिकारिक भाषा के तौर पर मान्यता दी थी। साथ ही इसे आधिकारिक भाषा भी घोषित किया। ये भारतीय गणराज्य की 22 आधिकारिक भाषाओं में से एक है। भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने 1949 से हर साल हिंदी दिवस मनाने का फैसला लिया था। इस दिन देश के विभिन्न हिस्सों में कार्यक्रमों का आयोजन किया दाता है।  

आपको बता दें, हिंदी दिवस तो 14 सितंबर को तो मनाया ही जाता है। इसके अलावा हर साल 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस भी मनाया जाता है। इसे 10 जनवरी, साल 1975 में नागपुर में आयोजित पहले विश्व हिंदी सम्मेलन की वर्षगांठ के रूप में मनाया जाता है। इसमें 30 देशों के 122 प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया था। ये दिन पहली बार 2006 में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा पूरी दुनिया में हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से मनाया गया था।

Hindi Diwas Essay-हिंदी दिवस पर Short निबंध

Hindi Diwas 2022 (हिंदी दिवस) essay: हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी 14 सितंबर को मनाया जा रहा है हिंदी दिवस, मातृभाषा को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है यह दिवस आपको ज्ञात होगा कि 14 सितबंर 1949 को संविधान सभा में एक मत पारित किया गया जिसमें हिंदी भाषा को राज्यभाषा घोषित कर दिया गया था देश में सबसे पहले बिहार ने हिंदी भाषा को कार्यालय की भाषा के रूप में घोषित किया था।

Hindi Diwas (हिंदी दिवस) हिंदी केवल हमारी राष्ट्रीय भाषा ही नहीं अपितु यह हमारे राष्ट्रीय गौरव का प्रतीक भी है। भाषा का उद्देश्य अपने विचारों को एक दूसरे तक पहुंचाना है भाषा के बिना कोई भी अपनी बात को, अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त नहीं कर सकता। हिंदी भाषा को प्रत्येक क्षेत्र में प्रसारित करने के लिए राष्ट्रभाषा प्रचार समिति का गठन किया गया वर्धा के अनुरोध पर 1953 से पूरे भारत में 14 सितंबर को हर वर्ष हिंदी दिवस मनाया जाने लगा

Hindi Diwas History [Hindi]-हिंदी दिवस का इतिहास

सर्वप्रथम सन 1805 में प्रकाशित श्रीकृष्ण पर आधारित किताब प्रेम सागर जिसे हिन्दी भाषा में लिखा गया। यह हिंदी भाषा में प्रकाशित पहली किताब है जिसे लल्लू लाल ने लिखा सन 1975 से वैश्विक स्तर पर हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के लिए ‘विश्र्व हिंदी सम्मेलन’ का आयोजन शुरू किया गया।

हिन्‍दी से जुड़ी 10 दिलचस्प बातें

हिंदुस्तान में बोली जाने वाली 22 भाषाओं में से हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा के रूप में चुना गया कहा जाता है कि उर्दू प्यार की भाषा है, अंग्रेजी व्यापार की और हिंदी व्यवहार की भाषा है। दुनिया में बोली जाने वाली तीसरी सबसे बड़ी भाषा हिंदी भाषा है।

4. भारत के अलावा मॉरीशस, फिलीपींस, नेपाल, फिजी, गुयाना, सुरिनाम, त्रिनिदाद, तिब्बत और पाकिस्तान में कुछ परिवर्तनों के साथ ही सही लेकिन हिंदी बोली और समझी जाती है। 

5. हिंदी में उच्चतर शोध के लिए भारत सरकार ने 1963 में केंद्रीय हिंदी संस्थान की स्थापना की। देश भर में इसके आठ केंद्र हैं।

6. अभी विश्‍व के सैंकड़ों विश्‍वविद्यालयों में हिन्‍दी पढ़ाई जाती है और पूरी दुनिया में करोड़ों लोग हिन्‍दी बोलते हैं। अमेरिका में लगभग एक सौ पचास से ज्यादा शैक्षणिक संस्थानों में हिंदी का  पठन-पाठन हो रहा है।

7. हिंदी को वैश्विक स्तर पर बढ़ावा देने के लिए 1975 से ‘विश्र्व हिंदी सम्मेलन’ का आयोजन शुरू किया गया। हिंदी को वैश्विक स्तर पर बढ़ावा देने के लिए 10 जनवरी  को हर साल विश्व हिंदी दिवस भी आयोजित किया जाता है। 

8. भारत, फिजी के अलावा मॉरीशस, फिलीपींस, अमेरिका, न्यूजीलैंड, यूगांडा, सिंगापुर, नेपाल, गुयाना, सुरिनाम, त्रिनिदाद, तिब्बत, दक्षिण अफ्रीका, सूरीनाम ,यूनाइटेड किंगडम, जर्मनी और पाकिस्तान में कुछ परिवर्तनों के साथ ही सही लेकिन हिंदी बोली और समझी जाती है। 

9.  हिंदी का नाम फारसी शब्द ‘हिंद’ से लिया गया है, जिसका अर्थ है सिंधु नदी की भूमि। फारसी बोलने वाले तुर्क जिन्होंने गंगा के मैदान और पंजाब पर आक्रमण किया, 11वीं शताब्दी की शुरुआत में सिंधु नदी के किनारे बोली जाने वाली भाषा को ‘हिंदी’ नाम दिया था। यह भाषा भारत की आधिकारिक भाषा है और संयुक्त अरब अमीरात में एक मान्यता प्राप्त अल्पसंख्यक भाषा है।

दुनिया की इन टॉप 5 यूनिवर्सिटी में भी पढ़ाई जाती हिंदी

  • वाशिंगटन विश्वविद्यालय (University of Washington)- अमेरिका की वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में हिंदी भाषा में स्नातक और स्नातकोत्तर दोनों ही कोर्सेज किए जा सकते हैं. हिंदी में वहां से BA, MA तथा Ph.D. कोर्स के लिए अप्लाई किया जा सकता है.
  • लंदन विश्वविद्यालय (University of London)- लंदन यूनिवर्सिटी में भी हिंदी में ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट दोनों लेवल के कोर्स चलाए जा रहे हैं.
  • शिकागो विश्वविद्यालय (University of Chicago)- शिकागो विश्वविद्यालय में हिंदी में एक साल, दो साल, तीन साल और चार साल का कोर्स चलाए जा रहे हैं. इनके अलावा यहां पर हिंदी साहित्य और कल्चर पर आधारित एडवांस्ड कोर्स भी कराए जाते हैं.
  • कॉर्नेल विश्वविद्यालय (Cornell University)- इस अमेरिकी विश्वविद्यालय में हिंदी भाषा में तीन कोर्स चलाए जा रहे हैं.
  • टोक्यो यूनिवर्सिटी (Tokyo University)- टोक्यो यूनिवर्सिटी में 1909 से हिंदी पढ़ाई जा रही है. जापान में हिन्दी को लोकप्रिय करने में आकियो हागा ने अहम भूमिका निभाई है.

Hindi Diwas 2022-हिन्दुस्तान की मातृभाषा हिंदी

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि भारत में लगभग 4.25 करोड़ लोगों की पहली भाषा हिंदी है
हिंदी भाषा उत्तरी भारत के राज्यों हरियाणा, दिल्ली, बिहार, झारखंड, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश में बोली जाती है। हिंदी भाषा दुनिया में बोली जाने वाली तीसरी सबसे बड़ी भाषा है। यह भाषा कई मुस्लिम राष्ट्रों में भी बोली जाती है इसके अलावा मॉरिशस, फिजी, सुरीनाम, त्रिनिदाद और टोबेगो में भी हिंदी भाषा का इस्तेमाल किया जाता है।

Credit: Suvichar Kosh
  • अमेरिका में करीब 6,50,000 लोग हिंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं वहीं नेपाल में करीब 80 लाख लोग हिंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं।
  • मॉरीशस में अंग्रेजी और फ्रेंच संसद की आधिकारिक भाषा होते हुए भी वहां के एक तिहाई लोग हिंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं।
  • न्यूजीलैंड में बोली जाने वाली चौथी सबसे बड़ी भाषा भी हिंदी भाषा ही है बता दें कि 2016 में नेपाल में हिंदी भाषा को राष्ट्रीय भाषा के रूप में शामिल करने की मांग भी की जा चुकी है।

Hindi Diwas Slogan in Hindi

  • हिन्दी का सम्मान देश का सम्मान है, हमारी स्वतंत्रता वहां है
  • गर्व हमें है हिंदी पर शान हमारी हिन्दी है
  • जैसे रंगों के मिलने से खिलता है बसंत, हिन्दी पढ़ें, हिन्दी पढ़ाएं

Hindi Diwas Hindi Quotes

निज भाषा का नहीं गर्व जिसे
क्या प्रेम देश से होगा उसे
वही वीर देश का प्यारा है
हिंदी ही जिसका नारा है

हिंदी की बिंदी को,
माथे पर सजा कर रखना है।
सिर आंखों पर बिठाएंगे इसे
यह भारत मां का गहना है।

पाथेय है, प्रवास में, परिचय का सूत्र है
मैत्री को जोड़ने की सांकल है ये हिंदी
पढ़ने व पढ़ाने में सहज है, ये सुगम है
साहित्य का असीम सागर है ये हिंदी

सारा जहां ये जानता है,
ये ही हमारी पहचान है।
संस्कृत से संस्कृति हमारी,
हिंदी से हिंदुस्तान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

two × 4 =