IAF MiG-21 Crash In Rajasthan: राजस्थान के बाड़मेर में  वायु सेना का मिग-21 क्रैश, दो पायलट की मौत

MiG-21 Crash in Rajasthan बाड़मेर में वायु सेना का मिग-21 क्रैश

MiG-21 Crash in Rajasthan Barmer: भारतीय वायु सेना के दो पायलट गुरुवार रात उस समय बलिदान हो गए, जब उनका दो सीटों वाला लड़ाकू विमान मिग-21 राजस्थान में बाड़मेर के पास एक प्रशिक्षण उड़ान के दौरान क्रैश हो गया। विमान बाड़मेर के बायतु थाना क्षेत्र के भीमडा गांव में दुर्घटनाग्रस्‍त हुआ। विमान के क्रैश होने पर जिले के भीमडा गांव में जहां उसका मलबा गिरा, वहां बड़ा गढ्ड़ा हो गया। वायुसेना ने हादसे की वजहों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए हैं।

रक्षा मंत्री ने वायुसेना प्रमुख से हादसे की जानकारी ली  

समाचार एजेंसी एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने वायुसेना प्रमुख (Indian Air Force chief) एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी से इस हादसे के बारे में बात की है। वायुसेना प्रमुख ने रक्षा मंत्री को हादसे की पूरी डिटेल साझा की है।

शोक संतप्त परिवारों के साथ मजबूती से खड़ी है वायुसेना

MiG-21 Crash in Rajasthan | भारतीय वायुसेना ने कहा कि विमान गुरुवार शाम को राजस्थान के उतरलाई हवाई अड्डे से प्रशिक्षण के लिए रवाना हुआ था। रात करीब नौ बजकर 10 मिनट पर बाड़मेर के पास वह क्रैश हो गया। इसमें दोनों पायलट वीरगति को प्राप्त हो गए। सेना ने इस पर अफसोस जताया है। हालांकि, उसने दोनों पायलटों के नाम नहीं बताए हैं। सेना ने कहा है कि वह पायलटों के शोक संतप्त परिवारों के साथ मजबूती से खड़ी है। इसके साथ ही हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दिए हैं।

MiG-21 Crash | कैसे हुई दुर्घटना?

भारतीय वायुसेना का एक ट्विन सीटर मिग-21 ट्रेनर विमान गुरुवार की शाम राजस्थान के उतरलाई हवाई अड्डे से प्रशिक्षण के लिए उड़ान के लिए रवाना हुआ था। रात करीब 9:10 बजे बाड़मेर के पास विमान का एक्सीडेंट हो गया। दोनों पायलटों को घातक चोटें आईं। हादसे में दोनों पायलट्स के मौत की सूचना है भारतीय वायुसेना ने कहा कि दोनों जांबाज पायलट के जान गंवाने का गहरा अफसोस है और शोक संतप्त परिवारों के साथ मजबूती से खड़ा है। हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दे दिए गए हैं।

Also Read | Bipin Rawat Helicopter Crash : तमिलनाडु के कुन्नूर में वायु सेना का हेलिकॉप्टर क्रैश, सीडीएस जनरल बिपिन रावत भी थे सवार

MiG-21 Crash in Rajasthan | वायुसेना के बड़े विमान हादसे 

  • 21 अक्टूबर, 2021 को मध्य प्रदेश के भिंड जिले में वायुसेना का मिराज 2000 विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।
  • 25 अगस्त, 2021 को राजस्थान के बाड़मेर में एक प्रशिक्षण मिशन के दौरान वायुसेना का एक मिग-21 विमान क्रैश हो गया था।
  • 20 मई, 2021 को पंजाब के मोगा जिले में मिग-21 विमान दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था जिसमें वायुसेना के एक पायलट की मौत हो गई थी।
  • 17 मार्च 2021 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में मिग-21 बाइसन विमान क्रैश हो गया था जिसमें वायुसेना के एक ग्रुप कैप्टन की मौत हो गई थी।
  • 5 जनवरी, 2021 को राजस्थान के सूरतगढ़ में मिग 21 बाइसन विमान लैंडिंग के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।
  • फरवरी 2019 में IAF की एरोबेटिक टीम सूर्य किरण के दो विमान एक-दूसरे से हवा में टकराने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे।
  • अक्टूबर 2017 में अरुणाचल प्रदेश में तवांग के पास भारतीय वायु सेना का हेलिकाप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने से कम से कम सात लोगों की मौत हो गई थी।
  • दिसंबर 2015 में बीएसएफ के जवानों को ले जा रहा विमान दिल्ली हवाई अड्डे के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

MiG-21 Crash in Rajasthan | कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश

आधिकारिक बयान में कहा गया है कि भारतीय वायुसेना को जान गंवाने का गहरा अफसोस है और शोक संतप्त परिवारों के साथ मजबूती से खड़ा है. हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दे दिए गए हैं.

IAF ने हादसे पर जताया दुख

आईएफ ने इस दुर्घटना पर बयान जारी करते हुए बताया कि मिग-21 ट्रेनर विमान के दोनों पायलट हादसे में शहीद हो गये हैं। भारतीय वायुसेना को पायलटों के शहीद होने का गहरा अफसोस है। दुख की इस घड़ी में वायुसेना शोकाकुल परिवार के साथ मजबूती से खड़ी है। वायुसेना ने दुर्घटना की वजह के पीछे का कारण जानने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वारी के आदेश दिए हैं।

नियमित प्रशिक्षण पर था विमान, उत्तरलाई एयरफोर्स स्टेशन से भरी थी उड़ान

वायुसेना की ओर से जारी अधिकारिक सूचना के अनुसार हादसे का शिकार मिग 21 विमान अपने नियमित प्रशिक्षण उड़ान पर था। इस विमान बाड़मेर स्थित उत्तरलाई एयरफोर्स स्टेशन से उड़ान भरी थी। विमान बाड़मेर के भीमड़ा गांव के ऊपर पहुंचा तब उसमें आग लगी देगी गई। विमान उड़ा रहे दो पायलटों ने अपनी सूझबूझ और वीरता से आग लगने के बाद भी विमान को सुनसान इलाके की मोड़ दिया।

Also Read | MIG 21 Crash in Rajasthan: भारतीय लड़ाकू विमान Mig-21 हुआ फिर से दुर्घटनाग्रस्त

पायलटों ने सूझबूझ से आबादी इलाके को बचाया

वायुसेना का यह विमान हादसा बायतु के आबादी इलाके के पास हुआ है। हालांकि विमान के पायलटों की सूझबूझ के चलते आबादी इलाका इसकी चपेट में नहीं आया। पायलटों ने विमान को आबादी से दूर लेकर पहुंचे। हालांकि इस हादसे में सेना के दो पायलट शहीद हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five × 4 =