Group Captain Varun Singh Death: देवरिया के रहने वाले थे कैप्टन वरुण सिंह, अगस्त 2021 में मिला था शौर्य चक्र

Home Hindi News Group Captain Varun Singh Death: देवरिया के रहने वाले थे कैप्टन वरुण सिंह, अगस्त 2021 में मिला था शौर्य चक्र
Varun Singh Death News देवरिया के रहने वाले थे वरुण सिंह, मिला था शौर्यचक्र

Varun Singh Death News: तमिलनाडु को कुन्नूर में हुए सैन्य हेलीकॉप्टर दुर्घटना में जीवित बचे कैप्टन वरुण सिंह आज जिंदगी की जंग हार गए है. बता दें कि पिछले कुछ दिनों से उनका इलाज बेंगलुरु के एक अस्पताल में चल रहा था, जहां 7 दिन बाद आज उनका देहांत हो गया है.

Varun Singh Death News देवरिया के रहने वाले थे वरुण सिंह, मिला था शौर्यचक्र

भारतीय सेना ने दिवंगत सीडीएस जनरल बिपिन रावत को ले जा रहे भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद बचाव गतिविधियों में मदद करने वाले स्थानीय लोगों को धन्यवाद दिया। उसने कहा कि ग्रामीण मृतकों के लिए ‘वह एक योद्धा’ की तरह थे। मुख्यालय दक्षिण भारत के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) लेफ्टिनेंट जनरल ए अरुण, ने ग्रामीणों की जमकर प्रशंसा करते हुए कहा कि दुर्घटना में जीवित बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, जीवन के लिए ‘लड़’ रहे हैं और उन्हें उनके प्रयासों का श्रेय देते हुए कहा कि उन्होंने सिंह को जीवित निकाले जाने में मदद की।

यूपी के रहने वाले हैं कैप्टन वरुण सिंह

बता दें कैप्टन वरुण उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के रुद्रपुर तहसील के कन्हौली गांव के रहने वाले थे. उन्होंने पिछले साल एक उड़ान के दौरान बड़े टेक्निकल फॉल्ट की चपेट में आने के बाद अपने विमान को हैंडल करने के अदम्य साहस के लिए उन्हें 15 अगस्त 2021 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शौर्य चक्र से सम्मानित किया था. उन्होंने अपने तेजस फाइटर को मिड-एयर इमरजेंसी के बावजूद 10 हजार फीट की ऊंचाई से सुरक्षित उतारा था.

Varun Singh Death News: साहस का दिया था परिचय

उद्धरण में कहा गया, ‘‘अपनी जान को खतरा होने के बावजूद उन्होंने सैकड़ों करोड़ रुपये बचाते हुए लड़ाकू विमान को नियंत्रित करने तथा सुरक्षित उतारने के लिए असाधारण साहस का परिचय दिया. पायलट ने जोखिम लेते हुए विमान को उतारा. इससे स्वदेश निर्मित लड़ाकू विमान में खामी का सटीक विश्लेषण करने और ऐसी घटनाएं फिर से होने से रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाने में मदद मिली.’’

Read in English: IAF Chopper Crashed: CDS Bipin Rawat Amongst The Dead | SA News Channel 

कैप्टन वरुण सिंह के पिता आर्मी से रिटायर हैं

बता दें कि विंग कमांडर वरुण सिंह कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और पूर्व विधायक रहे अखिलेश प्रताप के भतीते हैं. ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, उनके पिता और भाई सशस्त्र बलों की तीन सेवाओं में रहे हैं. जहां कैप्टन वरुण सिंह भारतीय वायु सेना (IAF) में कार्यरत हैं तो उनके पिता, कर्नल (सेवानिवृत्त) केपी सिंह, आर्मी एयर डिफेंस (AAD) की रेजिमेंट में सेना के जवान थे.  कर्नल केपी सिंह के बेटे और ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के छोटे भाई, लेफ्टिनेंट कमांडर तनुज सिंह भारतीय नौसेना में एक अधिकारी हैं.

Credit: BBC Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eleven + ten =