World Mental Health Day 2022 [Hindi]: जानिए क्यों मनाया जाता है विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस क्या है इसका इतिहास?

World Mental Health Day 2022 [Hindi] जानिए क्यों मनाया जाता है विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस क्या है इसका इतिहास

World Mental Health Day 2022 [Hindi]: भाग दौड़ भरी जिंदगी में शरीर की थकान होना एक आम बात है। कभी-कभी इस थकान की वजह से हम शारीरिक बीमारी का भी शिकार हो जाते हैं। शारीरिक बीमारी तो सभी को नजर आती है लेकिन मानसिक बीमारी या मानसिक रूप से अस्वस्थ होने पर कभी-कभी उस व्यक्ति को भी पता नहीं चलता वह बीमार है। इसलिए मेंटल हेल्थ को लेकर जागरुकता बेहद जरूरी है। लोगों को मानसिक स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशील और जागरूक करने के उद्देश्य से 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य (World Mental Health Day) दिवस मनाया जाता है।

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस क्यों मनाया जाता है?

आज दुनिया में कई कारणों से लोग डिप्रेशन या अन्य मानसिक बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। कई बार लोग मानसिक रोग की चपेट में इस प्रकार आ जाते हैं कि उन्हें आत्महत्या के ख्याल भी आने लगते हैं।ऐसे में विश्व को मेंटल हेल्थ के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से यह दिन मनाया जाता है।

बेहतर मेंटल हेल्थ के लिए खाएं ये फूड्स

  • प्लांट आधारित डाइट – मानसिक तौर पर खुद को बेहतर महसूस कराने के लिए खानपान की आदतों में बदलाव करना जरूरी है. प्लांट आधारित डाइट लेकर हम इस समस्या से बहुत हद तक निजात पा सकते हैं. प्लांट आधारित डाइट में फल, सब्जियां, अनाज, नट्स आदि शामिल हैं.
  • ठंडे पानी का सीफूड – नॉनवेज खाने वाले लोगों को सी फूड भी काफी पसंद आता है. ऐसे में बेहतर मेंटल हेल्थ के लिए ठंडे पानी की मछलियों जैसे सेलमॉन का उपयोग किया जा सकता है. ये मेंटल हेल्थ को बेहतर करने में मदद करती है. इसमें काफी मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड भी होता है जो डिप्रेशन को आने से रोकता है.
  • साबुत अनाज – एक रिसर्च के मुताबिक ओमेगा 3 रिच सी फूड की तरह ही साबुत अनीाज भी डिप्रेशर को दूर भगाने में काफी फायदेमंद साबित होता है. ऐसे में आप अपनी डाइट में ओटमील, होल ग्रेन ब्रेड, कॉर्न, बारले और क्यूनोआ को शामिल कर सकते हैं.

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस 2022 की थीम-World Mental Health Day 2022 Theme Hindi

हर साल विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के लिए एक थीम रखी जाती है। इस वर्ष World Mental Health Day 2022 की थीम (Theme) – “समानसिक स्वास्थ्य और कल्याण को वैश्विक प्राथमिकता बनाएं’ (Make Mental Health and Well-Being for All a Global Priority)” रखी गई है।

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का इतिहास (History)

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पहली बार साल 1992 में संयुक्त राष्ट्र (UN) के उप महासचिव रिचर्ड हंटर और वर्ल्ड फेडरेशन फॉर मेंटल हेल्थ (World Health Fedreation For Mental Health) की पहल पर मनाया गया था। ये 150 से अधिक सदस्य देशों वाला एक वैश्विक मानसिक स्वास्थ्य संगठन है। इसके बाद साल 1994 में तत्कालीन संयुक्त राष्ट्र के महासचिव यूजीन ब्रॉडी के सुझाव के बाद विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस को एक थीम के साथ मनाने की शुरुआत की गई।

यह भी पढ़ें: 15 May International Family Day Hindi: अंतर्राष्ट्रीय परिवार दिवस की जानकरी

सन् 1994 में पहली बार “दुनिया भर में मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार।” नामक थीम के साथ विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाया गया था। तब से हर साल 10 अक्टूबर को मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लिए वैश्विक स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। ऑस्ट्रेलिया समेत कुछ देशों में मानसिक रोगों से बचने और उनके नुकसान के बारे में जागरुकता फैलाने के लिए मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह (Mental Health Week) भी मनाया जाता है।

वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे का महत्व

हर साल 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। कोविड- 19 महामारी ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि हमारे शारीरिक स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य के बीच गहरा संबंध है। लेकिन अभी भी ज्यादातर लोग इसपर ध्यान नहीं देते। फिजिकल और मेंटल हेल्थ एक ही सिक्के के दो पहलू की तरह हैं। किसी भी एक पहलू को नजरअंदाज करना दूसरे पहलू को नकारात्मक तरीके से प्रभावित करता है। बड़े-बूढ़े से लेकर स्कूल जाने वाले बच्चे भी इस समस्या से जूझ रहे हैं। तो इस प्रॉब्लम को छिपाने की जगह उस पर ध्यान देने की जरूरत है। वरना आने वाले समय में स्थिति और बिगड़ सकती है। 

Also Read | World Mental Health Day: Know the Main Cause & Remedy for Mental Health Problems

World Mental Health Day 2022 Hindi Quotes

“तनाव, चिंता, दुख… अस्थाई हैं। अपनी अस्थाई भावना के लिए कोई स्थाई निर्णय न लें।”

“कभी-कभी सबसे खराब जगह आपके अपने दिमाग में हो सकती है। इसलिए शांत रहें, खुश रहें”। 

“डिप्रेशन और अकेलापन जिंदगी को बदतर बना सकते हैं, लेकिन चिंता न करें, दुनिया मे हर चीज का समाधान है”।

“आपके पास एक नाम और अपना एक व्यक्तित्व है। आप चाहें तो हर मानसिक बीमारी को दूर कर सकते हैं”।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × five =