World Science Day 2021: क्यों मनाया जाता है विश्व विज्ञान दिवस, क्या है इसका इतिहास और महत्व?

World Science Day for Peace and Development: शांति और विकास के लिए विश्व विज्ञान दिवस एक अंतरराष्ट्रीय दिवस है जो समाज में विज्ञान की महत्वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डालता है और प्रत्येक वर्ष 10 नवंबर को मनाया जाता है। यह उभरते वैज्ञानिक मुद्दों पर बहस में व्यापक जनता को शामिल करने की आवश्यकता पर भी प्रकाश डालता है। विश्व विज्ञान दिवस 2001 में संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) द्वारा घोषित किया गया था और 2002 में पहली बार मनाया गया था।

विश्व विज्ञान दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष 10 नवम्बर को दुनिया के कई देशों में शांति और विकास के लिए ‘विश्व विज्ञान दिवस’ मनाया जाता है। इसके तहत शांति एवं विकास कार्यों में विज्ञान के योगदान के बारे में बताया जाता है।

विश्व विज्ञान दिवस का इतिहास (History of World Science Day)

उल्लेखनीय है कि इस दिवस’ को वर्ष 1999 में बुडापेस्ट में संयुक्त रूप से अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान परिषद और यूनेस्को द्वारा विज्ञान पर विश्व सम्मेलन के अनुसरण में मनाया गया। यूनेस्को द्वारा इस दिवस की स्थापना दुनिया भर में विज्ञान के लाभों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए की थी।

विश्व विज्ञान दिवस का उद्देश्य (Aim of World Science Day)

शांति और विकास के लिए विश्व विज्ञान दिवस, शांति एवं विकास कार्यों में विज्ञान के योगदान के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। इस दिन सभी विज्ञान संस्थानों, जैसे राष्ट्रीय एवं अन्य विज्ञान प्रयोगशालाएं, विज्ञान अकादमियों, स्कूल और कॉलेज तथा प्रशिक्षण संस्थानों में विभिन्न वैज्ञानिक गतिविधियों से संबंधित प्रोग्राम आयोजित किए जाते हैं।

Also Read: राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (National Science Day) पर जानिए रमन प्रभाव के बारे में

विश्व विज्ञान दिवस (World Science Day)

सम्पूर्ण विश्व में आज यानि 10 नवम्बर (रविवार) को विश्व विज्ञान दिवस मनाया जा रहा है।  2020 में, उस समय जब वैश्विक COVID-19 महामारी ने वैश्विक चुनौतियों को संबोधित करने में विज्ञान की महत्वपूर्ण भूमिका का प्रदर्शन किया, विश्व विज्ञान दिवस का ध्यान विज्ञान के लिए और समाज के साथ है। 2020 के विश्व विज्ञान दिवस का जश्न मनाने के लिए, यूनेस्को “COVID-19 से निपटने के लिए विज्ञान और समाज के साथ” विषय पर एक ऑनलाइन गोलमेज सम्मेलन आयोजित करेगा।

विश्व विज्ञान दिवस के विषय (Theme for World Science Day)

  • वर्ष 2019 में इस दिवस का विषय- “”वैश्विक महामारी से निपटने के लिए विज्ञान और समाज के साथ” है।
  • वर्ष 2019 में इस दिवस का विषय- “ओपन साइंस, कोई भी पीछे न रहे” था।
  • वर्ष 2018 में इस दिवस का विषय- “विज्ञान, एक मानव अधिकार” था।
  • वर्ष 2017 में इस दिवस का विषय-“वैश्विक समझ के लिए विज्ञान” था।
  • वर्ष 2016 में इस दिवस का विषय-“विज्ञान केंद्र और विज्ञान संग्रहालय मनाते हैं (केलेब्रटिंग सेलेब्रटिंग साइन्स सेंटरेस एंड साइन्स म्यूज़ियमस)” था।
  • वर्ष 2015 में इस दिवस का विषय-‘एक सतत भविष्य के लिए विज्ञान’ था।
  • वर्ष 2014 के विश्व विज्ञान दिवस का विषय- मानव जीवन के लिए सुनिश्चित भविष्य हेतु “विज्ञान की गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा” था।
  • वर्ष 2013 के विश्व विज्ञान दिवस का विषय ‘साइंस फॉर वाटर कोऑपरेशन: शेयरिंग डेटा, नॉलेज एंड इन्नोवेशंस’ रखा गया था।

विश्व विज्ञान दिवस पर निबंध Essay On World Science Day In Hindi

हर साल 10 नवम्बर को सयुक्त राष्ट्र संघ के सभी सदस्य राष्ट्रों द्वारा विश्व विज्ञान दिवस मनाया जाता है. इस दिन विज्ञान किस तरह विश्व शान्ति और प्रगति में अहम भूमिका निभा सकती है. इस विषय को लेकर अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है.

Credit: OneIndia Hindi

10 नवम्बर को ही विश्व विज्ञान दिवस मनाने की प्रथा की शुरुआत 2001 से हुई, इस दिन को पहली बार अंतराष्ट्रीय कार्यक्रम के रूप में पहली बार 1999 में हंगरी के बुडापेस्ट शहर में सयुक्त राष्ट्र संघ के तत्वाधान में इसका आयोजन हुआ था. तब से लेकर वर्ष 2017 तक इसे निरंतर मनाया जा रहा है.

विश्व विज्ञान दिवस पर स्लोगन/नारे (Science Day quotes in Hindi)

विज्ञान की तीन विधियाँ हैं – Theory, experimentation and simulation


साइंटिस्ट इस संसार का, जैसे है उसी रूप में अध्ययन करते हैं । इंजिनियर वह संसार बनाते हैं जो कभी था ही नहीं ।


विज्ञान की बहुत सारी मान्यताएं गलत/भ्रामक हैं ; यह पूरी तरह ठीक है । ये ही सत्य-प्राप्ति के झरोखे हैं 


बिमारी और दरिद्रता से विज्ञान निकाल सकती है मगर इसके बदले में सामाजिक अशांति को भी बदल सकने की योग्यता रखती है.


यह विज्ञान के धर्म की खास बात है कि यह तथ्य करता है।


विज्ञान पृथ्वी पर सदा से मौजूद सिद्धांतो की खोज है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *