International Peace Day in Hindi: जानिए कैसे हुई अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस की शुरुआत?

International Peace Day in Hindi: आज पूरी दुनिया में मनाया जा रहा है विश्व शांति दिवस, जानिए कैसे हुई थी इस खास दिन की शुरुआत ।

International Peace Day in Hindi
International Peace Day in Hindi

अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस मुख्य बिंदु

  • विश्व शांति दिवस 2020 (International Peace Day in Hindi)
  • जानिए कैसे हुई थी इस खास दिन की शुरुआत
  • क्या है अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस का मुख्य उद्देश्य
  • 1981 में UN में हुआ था प्रस्ताव पारित
  • क्या है इस साल अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस की थीम
  • पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू ने भी दिया था शांति का मूल मंत्र
  • विश्व शांति दिवस के मौके पर आसमान में उड़ाए जायेंगे “शांति दूत”
  • कबीर परमेश्वर जी की भक्ति करने से ही मिल सकती है पूर्ण शांति

कैसे हुई थी International Peace Day खास दिन की शुरुआत?

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी 21 सितंबर को पूरी दुनिया में विश्व शांति दिवस मनाया जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी देशों में आपस में समन्वय एवं भाईचारे कायम रखने के लिए इस खास दिन की शुरुआत हुई थी। इस दिन सफेद कबूतरों को खुले आसमान में शांतिदूत के तौर पर उड़ाकर शांति का संदेश दिया जाता है।

यह भी पढ़े: Hindi Diwas 2020: हिंदी दिवस पर Short निबंध (Essay)

अंतरराष्ट्रीय विश्व शांति दिवस की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय (न्यूयॉर्क) में संयुक्त राष्ट्र शांति की घंटी बजाकर की जाती है। इस घंटी के एक तरफ लिखा है कि विश्व में सदैव शांति बनी रहे यह घंटी अफ्रीका महाद्वीप को छोड़कर बाकी सभी महाद्वीपों के बच्चों के द्वारा दान किए गए सिक्कों से बनाई गई थी। खास बात यह है कि जापान के यूनाइटेड नेशनल एसोसिएशन के द्वारा इस घंटी को तोहफे में दिया गया था।

International Peace Day in Hindi-क्या है अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस का मुख्य उद्देश्य?

  • इस खास दिन के मनाने का मकसद सिर्फ इतना है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी देशों में आपस में एकता एवं विस्तारवाद की नीति कायम रहे। तथा कोई भी राष्ट्रों के बीच युद्ध की स्थिति ना बने।
  • अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस के मौके पर सिविल सोसायटी स्कूलों, कॉलेजों संयुक्त राष्ट्र संघ, संस्थाएं, गैर-सरकारी संगठन, में शांति दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।
  • इस दिन पूरे भारत में लोग जगह-जगह पर सफेद रंग की कबूतर उड़ा कर एक दूसरे को शांति का संदेश देते हैं

1981 में UN में हुआ था प्रस्ताव पारित

सन 1981 में विभिन्न राष्ट्रों के द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में विश्व शांति दिवस का प्रस्ताव रखा गया था। जिसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा स्वीकार कर लिया गया और सर्वप्रथम 1982 में UN द्वारा इस खास दिन को मनाने की घोषणा कर दी गई।

सन 2001 तक इसे सितंबर माह के तीसरे मंगलवार को मनाया जाता था। लेकिन सन 2002 में संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वारा 21 सितंबर को पूरी दुनिया में इसे मनाने की घोषणा कर दी गई।

इस साल अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस की थीम (Theme) क्या है

इस वर्ष 2020 में विश्व अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस की थीम ‘Shaping peace together’ रखी गयी है।

पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू ने भी दिया था शांति का मूल मंत्र

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने विश्व में शांति बनाए रखने के लिए 5 मूल मंत्र दिए थे जिसे पंचशील सिद्धांत के नाम से जाना जाता है पंडित जवाहरलाल नेहरू ने एक-दूसरे राष्ट्रों के बीच अखंडता एवं शांति बनाए रखने की बात भी कही थी

Credit: Talk with shivi

कबीर परमेश्वर जी की भक्ति करने से ही मिल सकती है पूर्ण शांति

जैसा कि यजुर्वेद अध्याय 5 मंत्र 32 में कहा गया है कि वह पूर्ण शांतिदायक परमात्मा कबीर परमेश्वर जी है। शास्त्रों के अनुसार कबीर परमेश्वर जी की भक्ति करने से ही हमें पूर्ण शांति मिल सकती है।

यजुर्वेद अध्याय 29 मंत्र 25 में प्रमाण है कि जिस समय भक्त समाज को शास्त्रविधि त्यागकर मनमाना आचरण करवाया जा रहा होता है उस समय (कविर्देव) कबीर परमेश्वर तत्वज्ञान को प्रकट करता है। पवित्र सामवेद संख्या 359 अध्याय 4 खंड 25 श्लोक 8 में प्रमाण है कि जो (कविर्देव) कबीर साहिब तत्वज्ञान लेकर संसार में आता है वह सर्वशक्तिमान सर्व सुखदाता और सर्व के पूजा करने योग्य है

अपने जीवन को सफल बनाने के लिए आज ही जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी से नामदिक्षा लेकर मानव जीवन को सफल बनाएं और सभी बुराईयो से छुटकारा पाकर सुखी जीवन जिएं। जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी से मुफ्त नाम की दीक्षा ले और पढ़ें दुनिया की सबसे अधिक डाउनलोड की जाने वाली सबसे लोकप्रिय आध्यात्मिक बुक जीने की राह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *