Rajiv Gandhi Birth Anniversary: पापा आप हर पल मेरे साथ हो: राहुल गांधी

Rajiv Gandhi Birth Anniversary in hindi

Rajiv Gandhi Birth Anniversary in Hindi | राजीव गांधी ऐसे जननेता थे, जिन्होंने हमेशा नए विचारों एवं रचनात्मक आलोचनाओं का स्वागत किया। सांसद, प्रधानमंत्री, कांग्रेस अध्यक्ष तथा लोकसभा में विपक्ष के नेता के रूप में उन्होंने जिस गुरु-गंभीरता के साथ अपेक्षित भूमिका का निर्वहन किया, वह अद्वितीय थी

Rajiv Gandhi Birth Anniversary [Hindi] | राष्ट्रहित के लिए सदैव रहे प्रयासरत

राष्ट्रहित में संकल्प लेना एवं उन्हें तत्परता से कार्यान्वित करना उनकी कार्यशैली का प्रमुख हिस्सा था। लक्ष्य प्राप्ति में आतुरता तथा व्यवहार में शालीनता उनका प्रमुख गुण था, जिसने उनकी पहचान दूसरों से अलग बनाई। राजीव जी देश की आंतरिक समस्याओं के समाधान के लिए जितने आतुर थे, उतना ही पड़ोसी देशों से बेहतर तालमेल बनाने के इच्छुक भी थे। उन्होंने चीन, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश और श्रीलंका से संबंध मधुर करने का सार्थक प्रयास किए।

राजीव गांधी के सपनों का भारत जिसे पूरा करना चाहते हैं राहुल गांधी

राहुल और प्रियंका गांधी ने अपने पिता राजीव गांधी को श्रद्धांजलि देने के साथ एक वीडियो भी शेयर किया है जिसमें उनके सपनों का भारत और उनके समय किए गए कार्यों का उल्लेख है। आखिर राजीव गांधी के सपनों का भारत कैसा होना चाहिए? शेयर किए गए वीडियो के माध्यम से हम समझने की कोशिश करते हैं।

पर्यावरण संरक्षण को लेकर किए प्रयास

Rajiv Gandhi Birth Anniversary [Hindi] | राजीव गांधी पर्यावरण, प्रदूषण तथा मानव सभ्यता पर इसके घातक प्रभाव की समस्या से चिंतित थे। उन्होंने वन एवं पर्यावरण के संरक्षण के लिए ठोस कदम उठाए। राजीव जी का मानना था कि पर्यावरण संरक्षण और विकास की अवधारणा में संतुलन आवश्यक रूप से होना चाहिए। उन्होंने केन्द्रीय गंगा विकास प्राधिकरण की स्थापना कर गंगा नदी की सफाई का अभियान शुरू किया। 

Also Read | Rajiv Gandhi Death Anniversary: राजीव गाँधी की 26वी पुण्यतिथि जानिए उनकी मृत्यु का राज?

राजीवजी ने दल-बदल कानून लाकर राजनीति में फैली “आया राम, गया राम“ की विकृति पर अंकुश लगाने की पहल की, एवं राजनीति में शुचिता को विशेष महत्व दिया। राजीव गांधी ने समय की चुनौतियों को समझने एवं उसके मुताबिक देश को आगे ले जाने का साहसिक प्रयास किया। राजीव जी को नौजवानों की क्षमता और विवेक पर पूरा भरोसा था। उन्होंने नौजवानों को 18 वर्ष की उम्र में मताधिकार दिलाकर उनकी लोकतंत्र में भागीदारी सुनिश्चित की। 

भारत के नवनिर्माण का सपना

राजीव गांधी जी की स्मृति को संजोए रखना, उनके उस सपने का सम्मान होगा जो उन्होंने नए भारत के नवनिर्माण के लिए देखा था। राजीव जी का पुण्य स्मरण करते समय हमें उनके भारत संकल्प को याद रखना होगा। उनका प्रेरणादायी आव्हान था-

आओ, हम ऐसे भारत का निर्माण करें जिसे अपनी स्वाधीनता पर गर्व हो, जो अपनी स्वतंत्रता की रक्षा करने में पूर्ण सक्षम हो।जो सशक्त, कृषि एवं आधुनिक उद्योगों में आत्मनिर्भर हो, जो जाति, धर्म और क्षेत्र की संकीर्ण भावनाओं से उपर उठकर एकता के सूत्र से अनुप्राणित हो। जो निर्धनता तथा सामाजिक असमानताओं से मुक्त हो।

एक ऐसा महान भारत जो पूर्ण अनुशासित एवं कार्य कौशल युक्त हो। जो वैचारिक, धार्मिक एवं आध्यात्मिक मूल्यों से प्रतिष्ठित हो।

कांग्रेस नेताओं ने भी दी श्रद्धांजलि

वहीं कांग्रेस पार्टी के नेता देशभर में अपने दिवंगत नेता को याद करते हुए उन्हें अपनी ओर से भावभीनी श्रद्धांजलि दे रहे हैं. कांग्रेस पार्टी के ट्विटर हैंडल पर भी राजीव गांधी को याद करते हुए संदेश लिखा गया है, ‘भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी की जयंती पर हम उन्हें शत शत नमन करते हैं. साथ ही एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा गया है, ‘ वो भारत के लाल थे,राजीव उनका नाम.अपने दृढ़ इरादों से, बढ़ाया भारत मां का मान.

Also Read | Rajiv Gandhi Birth Anniversary: What is the Purpose of Human Life?

राजीव सरकार के कार्यों को गिनाया पूर्व पीएम राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर उनकी पार्टी कांग्रेस ने साल 1984 से 1989 के दरम्यान उनके कार्यकाल के दौरा

Rajiv Gandhi Birth Anniversary [Hindi] | राजीव गांधी की उपलब्धियां

  • 1986 में राजीव की पहल से ही MTNL की स्थापना हुई, जिससे दूरसंचार क्षेत्र में और प्रगति हुई.
  • हायर एजुकेशन के आधुनिकीकरण और विस्तार के लिए 1986 में शिक्षा पर राष्ट्रीय नीति (NEP) की घोषणा की.
  • जवाहर नवोदय विद्यालय प्रणाली के संस्थापक – 6वीं से 12वीं कक्षा तक ग्रामीण भारत में मुफ्त, गुणवत्ता और आवासीय शिक्षा प्रदान करने का श्रेय भी राजीव गांधी को ही जाता है.
  • राजीव गांधी की पहल पर अगस्त 1984 में भारतीय दूरसंचार नेटवर्क की स्थापना के लिए सेंटर पार डिवेलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स (C-DOT)की स्थापना हुई.

21वीं सदी के भारत के वास्तुकार- कांग्रेस

कांग्रेस ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर राजीव गांधी की एक तस्वीर शेयर करते हुए कहा कि, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी की जयंती पर हम उन्हें शत शत नमन करते हैं. “21वीं सदी के भारत के वास्तुकार” के रूप में सम्मानित, यह उनकी दूरदर्शिता के माध्यम से था जिसने भारत में आईटी और दूरसंचार क्रांति की शुरुआत की. आज हम उनकी विरासत का जश्न मनाते हैं.

18 साल में वोटिंग का अधिकार उन्हीं की देन

राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) ने प्रधानमंत्री रहते हुए युवाओं की महत्ता को ध्यान में रखते हुए संविधान में संशोधन के तहत वोट डालने की उम्र 21 साल को घटाकर 18 साल कर दिया था. रातों-रात देश में 5 करोड़ युवा वोटर तैयार हो गए, जिसका आगे के चुनाव में काफी असर देखा गया.

भारतीय इतिहास के सबसे युवा पीएम थे

राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री कहलाते हैं. वह सिर्फ 40 साल की उम्र में पीएम बन चुके थे. उनकी मां इंदिरा गांधी की हत्या के तुरंत बाद उनको प्रधानमंत्री की शपथ दिलाई गई थी.

Rajiv Gandhi Birth Anniversary [Hindi] | राजनीति में ऐसे आए राजीव

प्रोफेशन के तौर पर वह (Rajiv Gandhi) एक पायलट थे. उनका राजनीति में आने का पहले कोई इरादा भी नहीं था. लेकिन संजय गांधी की आकस्मिक मृत्यु के बाद, शंकराचार्य स्वामी श्री स्वरूपानंद, इंदिरा गांधी और राजीव से मिलने गए. इसी मीटिंग के दौरान शंकराचार्य स्वामी ने राजीव को राजनीति में आने का सुझाव दिया था. राजीव गांधी ने पहला चुनाव अमेठी से जीता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × 1 =