UAE President Death News [Hindi]: संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान का 73 की उम्र में निधन

UAE President Death News [Hindi] UAE में 40 दिनों के शोक का ऐलान

UAE President Death News [Hindi] | संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान का निधन हो गया है. राष्ट्रपति मामलों के मंत्रालय ने शुक्रवार, 13 मई को संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति और अबू धाबी के शासक हिज हाइनेस शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान के निधन की पुष्टि की है. संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति मामलों के मंत्रालय ने राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान का निधन पर दुख व्यक्त करते हुए 40 दिनों का शोक रखने की घोषणा की है. इसके अलावा सभी मंत्रालयों और प्राइवेट सेक्टर में तीन दिन तक कामकाज बंद रहेगा. 

UAE President Death News [Hindi] | UAE में भी 40 दिनों के शोक का ऐलान

गौरतलब है कि स्थानीय मीडिया ने राष्ट्रपति से जुड़े मामलों के मंत्रालय के हवाले से शेख खलीफा के निधन की पुष्टि की. समाचार एजेंसी डब्ल्यूएएम ने कहा, ‘राष्ट्रपति से जुड़े मामलों का मंत्रालय UAE के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाह्यान के निधन पर UAE, अरब जगत, इस्लामी राष्ट्र और दुनियाभर के लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करता है.’ शेख खलीफा तीन नवंबर 2004 से UAE के राष्ट्रपति और अबू धाबी के शासक के रूप में सेवाएं दे रहे थे.

1948 में शेख खलीफा का हुआ था जन्म

आपको बता दें कि शेख खलीफा का जन्म 1948 में हुआ था. शेख खलीफा संयुक्त अरब अमीरात के दूसरे राष्ट्रपति और अबू धाबी के 16वें शासक थे. शेख खलीफा अपनी पिता के सबसे बड़े बेटे थे. उनके शासन में संयुक्त अरब अमीरात में काफी तेजी से विकास हुआ. शेख खलीफा ने अपने शासन काल के दौरान देश को उन बुलंदियों के रास्ते पर ले गए जहां उनके पिता देश को आगे ले जाना चाहते थे.

Also Read | राजद्रोह कानून (Sedition Law) | क्यों उठ रहे सवाल

UAE President Death News [Hindi] | पिता शेख जायद की विरासत को आगे बढ़ाया

संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति के रूप में उनका मुख्य उद्देश्य उनके पिता शेख जायद द्वारा बताए गए रास्ते पर देश को आगे ले जाना था। उन्होंने कहा था कि शेख जायद की विरासत एक समृद्ध भविष्य की ओर हमारा मार्गदर्शन करने वाली बीकन बनी रहेगी। शेख खलीफा ने तेल और गैस क्षेत्र तथा डाउनस्ट्रीम उद्योगों के विकास को आगे बढ़ाया। इसने देश के आर्थिक विविधीकरण में सफलतापूर्वक योगदान दिया है।

UAE President Death News [Hindi] | प्रत्यक्ष चुनाव की दिशा में किया काम

उन्होंने उत्तरी अमीरात की जरूरतों का अध्ययन करने के लिए पूरे संयुक्त अरब अमीरात में व्यापक दौरे किए, जिसके दौरान उन्होंने आवास, शिक्षा और सामाजिक सेवाओं से संबंधित कई परियोजनाओं के निर्माण के निर्देश दिए। इसके अलावा उन्होंने संघीय राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों के लिए नामांकन प्रणाली विकसित करने के लिए एक पहल शुरू की, जिसे संयुक्त अरब अमीरात में प्रत्यक्ष चुनाव की स्थापना की दिशा में पहले कदम के रूप में देखा गया है। शेख खलीफा एक अच्छे श्रोता, विनम्र और अपने लोगों के मामलों में गहरी दिलचस्पी रखने के लिए जाने जाते थे। वह संयुक्त अरब अमीरात और इस क्षेत्र में बहुत पसंद किए जाने वाले व्यक्ति थे।

Also Read | Gyanvapi Masjid News | जानिए क्या है काशी में ज्ञानवापी मस्जिद विवाद!

पीएम मोदी ने जताया शोक 

पीएम मोदी ने यूएई के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट किया, वह एक महान राजनेता और दूरदर्शी नेता थे, जिनके तहत भारत-यूएई संबंध समृद्ध हुए। भारत के लोगों की हार्दिक संवेदना यूएई के लोगों के साथ है। व हीं, शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान के निधन पर भारत ने एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।  केंद्रीय गृह मंत्रालय के मुताबिक, उनके सम्मान में पूरे भारत में भी 14 मई को एक दिन का राजकीय शोक रखा जाएगा।

2004 में पिता के निधन के बाद चुना गया था

उन्हें अपने पिता स्वर्गीय महामहिम शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान के उत्तराधिकारी के रूप में चुना गया था, जिन्होंने 1971 से 2 नवंबर 2004 को अपने निधन तक यूएई के पहले राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया था। 

शेख खलीफा  UAE के दूसरे राष्ट्रपति और अबू धाबी अमीरात के 16वें शासक थे

1948 में जन्मे शेख खलीफा यूएई के दूसरे राष्ट्रपति और अबू धाबी अमीरात के 16वें शासक थे। वह शेख जायद के सबसे बड़े बेटे थे। यूएई का राष्ट्रपति बनने के बाद शेख खलीफा ने संघीय सरकार और अबू धाबी की सरकार के पुनर्गठन में बड़ी भूमिका निभाई थी। उनके शासन में यूएई ने विकास की नयी ऊंचाइयां भी छुईं।

आधुनिक UAE के निर्माता

शेख खलीफा को आधुनिक UAE का निर्माता भी कहा जाता है. UAE के लोगों के मन में राष्ट्रीयता की भावना भी उन्हीं के शासनकाल में विकसित हुई और इस दौरान उन्होंने लोगों को गरीबी से निकालने के लिए काफी काम किए और शायद यही वजह थी कि लोगों से उन्हें काफी प्यार मिला.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

three − 2 =