Pm Kisan Registration Status: अक्षय तृतिया पर मोदी सरकार ने दिया किसानों को तोहफा, पहली बार मिला PM-KISAN का फायदा

Pm Kisan Registration Status: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को प्रधानमुंत्री किसान सम्‍मान निधि (PM-KISAN) योजना के तहत 9.5 करोड़ किसानों को आठवीं किस्‍त के रूप में 20,000 करोड़ रुपये जारी किए। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज अक्षय तृतिया का पावन पर्व है, कृषि के नए चक्र की शुरुआत का समय है और आज ही करीब 20 हज़ार करोड़ रुपये किसानों के बैंक खातों में सीधे ट्रांसफर किए गए हैं। इसका लाभ करीब-करीब 10 करोड़ किसानों को होगा। बंगाल के किसानों को पहली बार इस सुविधा का लाभ मिलना शुरू हुआ है। शुक्रवार को पहली बार पीएम किसान सम्‍मान निधि योजना का लाभ पश्चिम बंगाल के 7.03 लाख किसानों को प्राप्‍त हुआ। योजना के शुरू होने के दो साल बाद आज उन्‍हें पहली बार 2000 रुपये की पहली किस्‍त प्राप्‍त हुई, जबकि देश के अन्‍य हिस्‍सों में किसानों के खातों में 8वीं किस्‍त के रूप में धन हस्‍तांतरित किया गया।

Pm Kisan Registration Status Kisan ऐसे चेक करें अपना नाम, और किस्त

इस योजना के तहत अबतक किसानों को 2000 रुपये की 7 किस्त मिल चुकी है. अब 8वीं किस्त आने वाली है. पिछली बार 25 दिसंबर 2020 को करीब 9 करोड़ किसानों के खाते में 18000 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए थे. अगर किसी किसान को इस स्कीम के तहत पैसा नहीं मिला है तो आप केंद्रीय कृषि मंत्रालय की इस हेल्पलाइन पर फोन कर इसकी जानकारी ले सकते हैं.

Pm Kisan Registration Status: कौन से किसान सम्मान निधि के दायरे में नहीं आते

  • ऐसे किसान जिनके पास इंस्टीट्यूशल जमीन है। 
  • ऐसे किसान परिवार जिसके एक या एक से अधिक सदस्यों ने पिछले साल आयकर दिया हो।
  • दूसरों की जमीन पर खेती करने वाले किसान
  • खेती करने वाले ऐसे किसान जिनके परिवार में एक या एक से अधिक सदस्य डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, आर्किटेक्ट हैं और वो इसके जरिये कमाई कर रहे हों।
  • किसान परिवार जिनके एक या एक से अधिक सदस्यो को 10 हजार रुपये महीने से ज्यादा की पेंशन मिलती हो। (मल्टीटास्क कर्मियों, क्लास 4, ग्रुप डी कर्मचारियों को छोड़कर)
  • ऐसे किसान जिनके परिवार के एक या एक से अधिक सदस्य संवैधानिक पदों पर हैं या पहले थे।
  • ऐसे किसान जिनके परिवार के एक या एक से अधिक सदस्य केंद्र सरकार, राज्य सरकार, सरकारी कंपनियों, नगरपालिकाओं के नियमित कर्मचारी/ सेवानिवृत कर्मचारी हैं। (मल्टीटास्क कर्मियों, क्लास 4, ग्रुप डी कर्मचारियों को छोड़कर)

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा पीएम-किसान पोर्टल (http://pmkisan.gov.in) के किसान कॉर्नर में प्रदान की गई है। किसान अपना पंजीकरण उक्त पोर्टल के माध्यम से भी कर सकते हैं और अपने भुगतान की स्थिति भी जान सकते हैं।

टीकाकरण पर भी बोले पीएम मोदी

इस दौरान उन्होंने कहा कि बचाव का एक बहुत बड़ा माध्यम है, कोरोना का टीका। केंद्र सरकार और सारी राज्य सरकारें मिलकर ये निरंतर प्रयास कर रही हैं कि ज्यादा से ज्यादा देशवासियों को तेजी से टीका लग पाए।देशभर में अभी तक करीब 18 करोड़ वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं। देशभर के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीकाकरण किया जा रहा है। इसलिए जब भी आपकी बारी आए तो टीका जरूर लगवाएं। ये टीका हमें कोरोना के विरुद्ध सुरक्षा कवच देगा, गंभीर बीमारी की आशंका को कम करेगा। मास्क और दो गज की दूरी के मंत्र को हमें छोड़ना नहीं है।

Pm Kisan Registration Status: ऐसे चेक करें लिस्ट में नाम है या नहीं

  • सबसे पहले आपको पीएम किसान स्कीम की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in पर जाना होगा.
  • वेबसाइट खुलने के बाद मेन्यू बार देखें और यहां ‘फार्मर कार्नर’ पर जाएं.
  • अब ‘लाभार्थी सूची’ के लिंक पर क्लिक करें.
  • अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव विवरण दर्ज करें.
  • इसके बाद आपको Get Report पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपको जानकारी मिल जाएगी.
  • जिन किसानों को इस योजना का लाभ सरकार की तरफ से दिया गया है उनके भी नाम राज्य/जिलेवार/तहसील/गांव के हिसाब से देखे जा सकते हैं.
Credit: Bhaskar

जानिए अपनी आठवीं किस्त का Status

PM Kisan Yojana के तहत रजिस्टर्ड किसान के खाते में राशि भेजी जाएगा. खाते में पैसा आया या नहीं इसका पता किसान अब घर बैठे ही लगा सकते हैं. बहुत से किसानों को यह पता लगाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है कि उनके खाते में किसान सम्मान निधि का पैसा आया है या नहीं. कोरोना संकट और अधिकांश राज्यों में लगे लॉकडाउन के बीच इसका पता करने के लिए किसानों के लिए बैंकों तक जाना भी मुश्किल है. 

Also Read: जानिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) के बारे में

भूमिहीन किसानों को नहीं मिलेगा लाभ

 प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ उठाने के लिए किसान के नाम पर कृषि भूमि होना आवश्यक है. इस योजना से कई ऐसे किसान भी जुड़े हुए हैं, जिनके नाम पर कृषि भूमि नहीं है. सरकार ने ऐसे किसानों को योजना से बाहर करने का फैसला किया है. 

संयुक्त परिवार के किसानों के लिए भी हुआ है बदलाव

 इसके अलावा सरकार ने संयुक्त परिवार को नियमों में भी इस योजना के अंतर्गत बदलाव करने करने का फैसला किया है. अबतक संयुक्त परिवार के किसानों को भी इस योजना का लाभ मिल रहा था लेकिन केंद्र सरकार ने संयुक्त परिवारों के लिए भी पात्रता शर्तों में बदलाव किया है.

Pm Kisan Registration Status: Kisan ऐसे चेक करें अपना नाम

  • PMkisan.gov.in पर लॉग इन कीजिए।
  • ‘Farmers Corner’ मिलेगा।
  • ‘Farmers Corner’ में ‘Beneficiary List’ का ऑप्‍शन मिलेगा।
  • ‘Beneficiary List’ के विकल्प पर Click कीजिए।
  • इस पेज पर राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक को ड्रॉप डाउन लिस्ट में से चुनिए। गांव चुनिए।
  • अब ‘Get Report’ पर Click कीजिए। अब इस योजना के लाभार्थियों की पूरी लिस्ट आ जाएगी।
  • यह लिस्ट अल्फाबेटिक्‍ल ऑर्डर में होती है। यह लिस्ट कई पेज की होती है। इसमें नीचे से पेज बदलकर आप अपना नाम देख सकते हैं।

क्‍या है PM Kisan Yojana

मोदी सरकार ने छोटे और सीमांत किसानों के लिए साल में 6000 रुपये की मदद के लिए योजना बनाई है। किसानों को यह मदद 2000 रुपये की 3 किस्तों में दी जाती है। DBT के तहत यह रकम सीधे खाते में ट्रांसफर होती है। PM Kisan के तहत 2000 रुपये की पहली किस्त 1 अप्रैल से 31 जुलाई, दूसरी किस्त एक अगस्त से 30 नवंबर और तीसरी किस्त एक दिसंबर से 31 मार्च के बीच जारी हो जाती है. इसका अपडेट PM Kisan वेबसाइट पर दिया गया है।

PM Kisan Samman Nidhi Yojana के लिए 3 डॉक्यूमेंट्स जरूरी

  1. आधार कार्ड नंबर
  2. बैंक अकाउंट नंबर
  3. बैंक अकाउंट का आधार नंबर से लिंक होना

Pm Kisan Registration Status: किसानों को हर साल मिलते हैं 6000 रुपए

PM किसान सम्मान निधि स्कीम के तहत केंद्र सरकार प्रत्येक किसान परिवार को हर साल 6,000 रुपए देती है। यह राशि 2,000 रुपए की तीन समान किस्तों में दी जाती है। प्रत्येक 4 महीने के बाद यह सम्मान राशि सीधे किसानों के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है। प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, इस स्कीम के तहत अब तक लाभार्थी किसान परिवारों को 1.16 लाख करोड़ रुपए का वितरण किया जा चुका है। इससे पहले 25 दिसंबर 2020 को करीब 9 करोड़ किसानों को 7वीं किस्त ट्रांसफर की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *