Sushil Kumar News Hindi: हत्या के मामले में आरोपी पहलवान सुशील कुमार के खिलाफ दिल्ली पुलिश का लुक आउट नोटिस जारी

Sushil Kumar News Hindi: ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar) की मुसीबत बढ़ती जा रही है. छत्रसाल स्टेडियम (Chhatrasal stadium) में हुई मारपीट और हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस ने सुशील कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है.

Sushil Kumar News Hindi Delhi Police

Sushil Kumar News Hindi: पीड़ितों ने सुशील कुमार पर लगाया आरोप 

पुलिस के मुताबिक मारपीट मॉडल टाउन इलाके में एक फ्लैट को खाली कराने को लेकर हुई थी. सुशील कुमार का नाम इस मामले में नामजद हैं. दिल्ली एनसीआर के अलावा पड़ोसी राज्यों में सुशील कुमार की तलाश जारी है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पीड़ितों ने आरोप लगाया है कि सुशील कुमार घटना के समय घटनास्थल पर मौजूद थे।

दिल्ली पुलिश की सुशील कुमार की तलाश जारी 

यह घटना मंगलवार और बुधवार की दरमियानी रात को छत्रसाल स्टेडियम में घटी. पुलिस के अनुसार सुशील,अजय, प्रिंस, सोनू, सागर, अमित और अन्य के बीच पार्किंग क्षेत्र में झगड़ा हुआ. इसके बाद, पुलिस ने मॉडल टाउन पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता (IPC) और शस्त्र अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया.

क्या होता है लुकआउट नोटिस?

जब किसी व्यक्ति को अपराध के सन्दर्भ पूछताछ के लिए जांच एजेंसी के द्वारा बुलाया जाता है, यदि वह व्यक्ति उस जांच एजेंसी की जांच में सहयोग नहीं करता है और वह किसी गुप्त स्थान पर छिपने का प्रयास करता है, तब उसके विरुद्ध लुकआउट नोटिस जारी किया जाता है। लुकआउट नोटिस का तात्पर्य उस व्यक्ति को देश के बाहर जाने से रोकना होता है। इस नोटिस के आधार पर उस व्यक्ति को जलमार्ग और वायुमार्ग से यात्रा करने के लिए प्रतिबंधित किया जाता है। जांच एजेंसी इस नोटिस के आधार पर और भी सघन और सक्रियता से जांच का कार्य संपन्न करती है।

Also Read: DRDO के बनाए एंटी-कोविड ड्रग को मिली मंजूरी 

Sushil Kumar News Hindi: सुशील कुमार का पता लगाने के ल‍िए कई टीमें बनाई गई

इस मामले पर अतिरिक्त डीसीपी (उत्तर-पश्चिम) डॉ. गुरिकबल सिंह सिद्धू ने बताया था क‍ि हम सुशील कुमार की भूमिका की जांच कर रहे हैं, क्योंकि उनके खिलाफ आरोप लगाए गए हैं. हमने अपनी टीम उसके घर भेजी, लेकिन वह गायब थे. हम उनकी तलाश कर रहे हैं. आरोपी व्यक्तियों का पता लगाने के लिए कई टीमों का गठन किया गया है.’

Also Read: Mother’s Day 2021: दुनियाभर की माताओं को समर्पित मातृ दिवस

मामले में एफआईआर एक पीसीआर कॉल के आधार पर सहायक उप-निरीक्षक (ASI) जितेंद्र सिंह द्वारा दर्ज की गई. शुरुआती जांच में यह सामने आया है कि सुशील पहलवान (कुमार) और उनके सहयोगियों ने यह अपराध किया. प्राथमिकी में कहा गया है कि चार घंटे तक चली इस घटना में दो अन्य लोग घायल हुए हैं. उन्होंने पुलिस को बताया कि उन पर ‘शारीरिक हमला’ किया गया था. एडीसीपी ने कहा, ‘मृतक की पहचान सागर कुमार के रूप में हुई. दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल के बेटे और घायलों की पहचान सोनू महल (35) और अमित कुमार (27) के रूप में हुई है. हमने एक प्राथमिकी दर्ज की है. प्रिंस दलाल (24) को गिरफ्तार किया है और मौके से एक डबल बैरल बंदूक जब्त की है.’

क्‍या है पूरा मामला 

बता दें कि दिल्ली पुलिस को बीते बुधवार दोपहर करीब 12 बजे छत्रसाल स्टेडियम में पहलवानों के बीच झगड़े की खबर मिली थी. झगड़े में घायल होने वाले पहलवान को बीजेआरएम अस्पताल में भर्ती कराया गया जिसके बाद हालत बिगड़ती देख उसे ट्रॉमा सेंटल ले जाया गया, जहां बुधवार सुबह को उसकी मौत हो गई. गुरिकबल सिंह सिद्धू के अनुसार, पुलिस ने पाया कि स्टेडियम के पार्किंग क्षेत्र में सुशील कुमार, अजय, प्रिंस, सोनू, सागर, अमित और अन्य के बीच कथित तौर पर झगड़ा हुआ था. पुलिस सूत्रों ने बताया कि सागर और उसके दोस्त मॉडल टाउन इलाके में स्टेडियम के पास कुमार से जुड़े एक घर में रह रहे थे और हाल ही में उन्हें खाली करने के लिए कहा गया था.

Credit: TV9 Bharatvarsh

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, सागर ने 97-किलोग्राम ग्रीको-रोमन श्रेणी में प्रतिस्पर्धा की थी और वह एक पूर्व जूनियर राष्ट्रीय चैंपियन और वरिष्ठ राष्ट्रीय शिविर का हिस्सा थे. वहीं, सोनू महल गैंगस्टर काला जत्थेदी का करीबी सहयोगी है और उसे पहले एक लूट और हत्या मामले में गिरफ्तार किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *