योगी आदित्यनाथ पूर्व CM कल्याण सिंह से मिलने पहुंचे अस्पताल, डॉक्टरों को दिए दिशा निर्देश

कल्याण सिंह ( Kalyan Singh) का स्वास्थ्य लंबे समय से खराब चल रहा है, लेकिन मंगलवार रात को उनकी तबियत ज्यादा बिगड़ गई. उन्हें लखनऊ के राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया. जहां डॉक्टर उनके स्वास्थ्य की लगातार निगरानी कर रहे हैं.

Kalyan Singh News in Hindi

डॉक्टरों का पैनल बनाया गया

पीजीआई में शाम साढ़े पांच बजे कल्याण सिंह को भर्ती करवाया गया। जांच में हार्ट बीट सामान्य मिली लेकिन चैतन्यता का स्तर कम मिला। बाकी दिक्कतों के चलते उन्हें क्रिटिकल केयर में रखा गया है। वहीं नेफ्रॉलजी, कार्डियॉलजी, न्यूरॉलजी, एंडोक्राइनॉलजी, न्यूरो ऑटोलॉजी के विशेषज्ञों का एक पैनल बनाया गया है। निदेशक प्रफेसरों आरके धीमान और सीएमएस प्रफेसर गौरव अग्रवाल भी उनके उपचार में लगे हैं।

एसजीपीजीआई में भर्ती होने पर कल्याण सिंह का ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट सामान्य है, लेकिन शिथिलता है. वह पहले से ही कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं, लिहाजा उन्हें क्रिटिकल केयर मेडिसिन के आईसीयू में रखा गया है. विशेषज्ञ डॉक्टरों का एक पैनल बनाया गया है और उनकी जांच और इलाज शुरू किया गया है. प्रोफेसर आर के धीमन, निदेशक एवं मशहूर हेपेटोलॉजिस्ट एवं प्रोफेसर गौरव अग्रवाल, एन्डोसर्जन एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक भी उनके उपचार की देखरेख करेंगे.

Also Read: What is Advertisement in Hindi: जानिए विज्ञापनों का हमारे जीवन में महत्व

Kalyan Singh News in Hindi: पिछले हफ्ते भी भर्ती हुए थे

राममनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के प्रवक्ता डॉक्टर श्रीकेश सिंह के अनुसार उनकी तबीयत स्थिर है. पिछले सप्ताह भी उनको राम मनोहर लोहिया संस्थान (Ram Manohar Lohia Hospital) में भर्ती कराया गया था.

ब्लड प्रेशर और दिल की धड़कन सामान्य

पीजीआई निदेशक डॉ. आरके धीमान ने बताया कि कल्याण सिंह का ब्लड प्रेशर और रक्तचाप और दिल को धड़कन सामान्य है लेकिन चैतन्यता का स्तर थोड़ा कम है। उनके इलाज में दिल, गुर्दा, न्यूरो, डायबिटीज समेत करीब दर्जन भर डॉक्टरों की टीम लगी हुई है। निदेशक द्वारा गठित डॉक्टरों की टीम में सीएमएस डॉ. गौरव अग्रवाल, डॉ. बनानी पोद्दार, डॉ. अफजल अज़ीम, डॉ. नारायन प्रसाद, डॉ. सुनील प्रधान, डॉ. वीके पालीवाल, डॉ. ईश भाटिया, डॉ. अमित केसरी की निगरानी में उपचार शुरू करने के साथ कुछ जरूरी जांचे करायी जा रही हैं।करीब 90 वर्षीय पूर्व मुख्यमंत्री को लार ग्रंथि में सूजन व संक्रमण के चलते लोहिया में भर्ती हुए थे। अस्पताल में उन्हें आंशिक ब्रेन स्ट्रोक भी पड़ गया। लार ग्रंथि में सूजन की दिक्कत भी काफी हद तक काबू में आ गई लेकिन शनिवार देर रात पूर्व मुख्यमंत्री को दिल का दौरा पड़ने के स्थिति नाजुक हो गई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *