International Friendship Day 2022 [Hindi] | क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस, क्या है इसका इतिहास व महत्व ?

International Friendship Day 2022 Hindi History,Quotes,Importance

Last Updated on 30 July 2022, 4:08 PM IST | International Day of Friendship 2022 [Hindi]: दोस्ती वह एक रिश्ता है, जो हमें आगे बढ़ाती है और ज़िंदादिल रखती है, फिर चाहे हम कितने भी बड़े या छोटे क्यों न हों। दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय फ्रेंडशिप डे हर साल 30 जुलाई को मनाया जाता है, लेकिन भारत में इसे अगस्त के पहले रविवार को ही मनाया जाता है। इस साल भारत में फ्रेंडशिप डे एक अगस्त को मनाया जाएगा।

इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे कब है?

इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे या वर्ल्ड फ्रेंडशिप डे इस साल 30 जुलाई, शनिवार को मनाया जाएगा. संयुक्त राष्ट्र ने दोस्ती को बढ़ावा देने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों और गतिविधियों को आयोजित करने के लिए सरकारों और सामुदायिक समूहों को प्रोत्साहित करके शांति, एकता, सहयोग और खुशी के मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए चुना है. हालांकि भारत में फ्रेंडशिप डे अगस्त के पहले रविवार को मनाया जाता है. इस साल भारत में फ्रेंडशिप डे 7 अगस्त को मनाया जाएगा. 

कब हुई फ्रेंडशिप डे की शुरुआत (History of International Friendship Day)

दुनिया में फ्रेंडशिप डे (Friendship Day History) की शुरुआत 1958 में हुई. 1958 में अगस्त के पहले रविवार के दिन अमेरिकी सरकार ने एक व्यक्ति की हत्या करवा दी. मरने वाले का एक करीबी दोस्त था, दोनों में बेहद गहरी दोस्ती थी. जैसे ही उसे अपने दोस्त के मरने की जानकारी मिली, उसने भी आत्महत्या कर अपनी जान ले ली. तब से ही अमेरिका की सरकार ने इस दिन को फ्रेंडशिप डे के रूप में मनाना शुरू कर दिया. 

बताया जाता है कि 20 जुलाई 1958 में यूरोप के पैराग्वे में संयुक्त राष्ट्र संघ के डॉ रेमन आर्टिमियो ब्रैको अपने दोस्तों के साथ डिनर कर रहे थे. इसी दौरान उन्होंने ‘फ्रेंडशिप डे’ का प्रस्ताव रखा. वहीं 30 जुलाई को विश्व मैत्री धर्मयुद्ध (World Friendship Crusade) ने भी इसे मनाने का प्रस्ताव दिया. उस दौरान यह संयुक्त राष्ट्र की नजरों में आया. तब स्कूल और कॉलेजों में दोस्त एक-दूसरे की कलाई पर फ्रेंडशिप बैंड जैसा धागा बांधा करते थे. स्कूल और कॉलेजों में मनाए जाने के बाद संयुक्त राष्ट्र संघ ने 27 अप्रैल 2011 को आधिकारिक तौर पर 30 जुन को अंतरराष्ट्रीय फ्रेंडशिप डे (International Friendship Day Hindi) के रूप में मनाने की घोषणा की. 

क्यों हुई मित्रता दिवस मनाने की शुरुआत?

अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस यूनेस्को द्वारा शांति की संस्कृति के प्रसार के लिए की गई एक पहल है, जिसमें दुनिया के तमाम देशों में दोस्ती के माध्यम से खुशी और एकता के संदेश को फैलाने के समाधान के तौर पर यह दिन अस्तित्व में आया।

Also Read | Happy Friendship Day: जानिए क्या है फ्रेंडशिप डे का इतिहास?

जुलाई और अगस्त का मित्रता दिवस अलग

दुनिया के देश दो बार मित्रता दिवस मनाते हैं. भारत समेत बांग्लादेश, मलेशिया, संयुक्त अरब अमीरात और संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे देश हर साल अगस्त के पहले रविवार को दोस्ती दिवस मनाते हैं. हालांकि अन्य कई देशों में 30 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस के तौर पर मनाया जाता है.

फ्रेंडशिप डे का महत्त्व (International Friendship Day Importance)

दुनिया के कई रिश्तों से इतर दोस्ती ही एक ऐसा रिश्ता है जो अपने पार्टनर में लिंग, धर्म और जाति के बंधनों में नहीं देखता. इसे हर कोई दिल खोलकर मनाता है. ऐसा माना जाता है कि दुनियाभर में सांस्कृतिक, राजनीतिक और धार्मिक मतभेदों को दूर करने के लिए दोस्ती ही सबसे महत्त्वपूर्ण रिश्ता है. इसलिए दुनियाभर में इस दिन का दिल खोलकर स्वागत किया जाता है.

Also Read: International Friendship Day: Date, Theme, Quotes, Significance, History | SA News

international Friendship Day 2022 | अलग-अलग दिन होते हैं फ्रेंडशिप डे

दुनियाभर के देशों में अलग-अलग दिन फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है. संयुक्त राष्ट्र संघ ने 30 जुलाई को अंतराष्ट्रीय फ्रेंडिशप डे मनाए घोषित किया था. हालांकि, भारत समेत कई दक्षिण एशियाई देशों में अगस्त के पहले रविवार को ही फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है. ओहायो के ओर्बलिन में 8 अप्रैल को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है.

Also Read: International Tiger Day पर जाने भारत में इस समय कुल कितने बाघ

international Friendship Day 2022 | फ्रेंडशिप डे से जुड़ी कहानियां

कहा जाता है कि साल 1930 में एक व्यापारी ने इस दिन की शुरुआत की थी. जोएस हाल नाम के इस व्यापारी ने सभी लोगों के लिए एक दिन ऐसा रखा जिसमें दो दोस्त आपस में एक दूसरे को कार्ड देते हुए इस दिन को सेलीब्रेट कर सकें. इस खास दिन को मनाने के लिए उस व्यापारी ने 2 अगस्त के दिन को चुना था.

International Friendship Day: जानें क्या है इसका Itihaas और क्यों है खास ? | Credit: वनइंडिया हिंदी

बाद में यूरोप और एशिया के बहुत से देशों ने इस परंपरा को आगे बढ़ाते हुए फ्रेंडशिप डे को मनाने का फैसला किया गया. वहीं बताया जाता है कि 20 जुलाई 1958 को डॉक्टर रमन आर्टिमियो ने एक डिनर पार्टी के दौरान अपने दोस्तों के साथ मित्रता दिवस मनाने का विचार रखा. पराग्वे में हुई इस घटना के बाद विश्व में फ्रेंडशिप डे मनाने की परंपरा पर खासा ध्यान दिया गया. पैराग्वे में फ्रेंडशिप डे काफी जोरो-शोरों से मनाया जाता है. शुरू में ग्रीटिंग कार्ड्स को इस दिन पर अपने दोस्तों को देने का बढ़ावा मिला.

शर्तें लगाई जाती नहीं दोस्ती के साथ
कीजे मुझे क़ुबूल मिरी हर कमी के साथ
– वसीम बरेलवी

हैप्पी अंतरराष्ट्रीय फ्रेंडशिप डे !


लोग डरते हैं दुश्मनी से तेरी
हम तेरी दोस्ती से डरते हैं – हबीब जालिब

Happy Friendship Day 


हम को यारों ने याद भी न रखा
‘जौन’ यारों के यार थे हम तो – जौन एलिया

जो दोस्त हैं वो माँगते हैं सुलह की दुआ
दुश्मन ये चाहते हैं कि आपस में जंग हो – माधव राम जौहर

दुश्मनों के सितम का… दुश्मनों के सितम का ख़ौफ़ नहीं
दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं- शकील बदायुनी

दोस्ती जब किसी से…
दोस्ती जब किसी से की जाए
दुश्मनों की भी राय ली जाए- राहत इंदौरी

Happy Friendship Day 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seventeen + 5 =