Social Research: कृषि, किसान और सरकार – क्या है किसान आंदोलन का कारण?

खबरों की खबर के इस कार्यक्रम में आपका बहुत बहुत स्वागत है। आज फिर एक नई खबर आपके सामने पेश करेंगे जिसका विषय है- किसान।
वो किसान जो पूरी दुनिया का पेट भरता है, जो अन्न की उपज करता है जिसे अन्नदाता भी कहा जाता है, वो किसान आज पूरे देश और दुनिया में चर्चा में हैं। त्याग और तपस्या का दूसरा नाम है किसान।एक कहावत है कि भारत की आत्मा किसान है जिनका गाँवों में निवास है। किसान की कृषि ही शक्ति है। जीवन दाता अन्न की उपज करने वाला किसान आज भी भूखा रहने पर मजबूर है। अब तक किसान का जीवन संघर्ष भरा ही रहा है। इतनी मेहनत करने के बावजूद भी किसान को रोटी के लिए संघर्ष करना पड़ता है। समय पर वर्षा न होने से उन्हें बहुत नुकसान उठाना पड़ता है जिस कारण हर साल बहुत से किसान कर्जा न चुका पाने के कारण आत्महत्या करने का रास्ता चुनते हैं।

kisan andolan ka karan

किसान देश का गौरव है, किसान अन्नदाता है

सितंबर 2020 में सरकार द्वारा किसानों के लिए तीन बिल पास किये गए थे। इन तीन बिलों ने किसानों में उथल पुथल मचा दी। जिसके चलते किसानों ने आंदोलन शुरू कर दिए, बहुत सी जनता किसानों का साथ देने लगी। अब तक हुए आंदोलन में बहुत सी घटनाएं भी होती रही। 26 जनवरी को दिल्ली में लाल किले पर चढ़ाई की गई जो की समाज को नगवार गुज़री। बहुत सी हिंसाये हुई, तोड़ फोड़ हुई, सरकार ने किसानों को खदेड़ने के लिए बहुत कुछ किया पर किसान अपने आंदोलन पर डटे रहे। केवल हरियाणा और पंजाब के ही नहीं बल्कि पूरे भारत वर्ष के किसान इस आंदोलन में हिस्सा ले रहे हैं। जगह-2 आंदोलन चल रहे हैं।

Also Read: Kisan Andolan Latest News: राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ का आंदोलन खत्म, किसान नेताओं पर केस दर्ज

आंदोलन में राकेश टिकैत जी भी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। वे पूरे देश मे जगह-2 जाकर किसानों से बात कर रहे है। भाषण दे रहे हैं।
राकेश टिकैत जी ने अपने एक भाषण में एक बात कही थी कि एक ऐसी विचारधारा लायी जाए जो गरीब की सुने, किसान की सुने और दुनिया मे भूख पर व्यापार न हो यानी रोटी बाजार की वस्तु न बनें। सबको उनका हक मिले, MSP तय हो। किसानों के लिए जो तीन नए बिल पास किया हैं उन्हें वापिस ले। उनका कहना है कि MSP के बिना फसल की बिक्री सही दाम पर नहीं बिकेगी, ज्यादा उपज होने पर कम रेट लगेगा और अन्न की तस्करी होने पर कीमतें बढ़ेंगी। किसानों का मानना है कि यदि सरकार बिल वापिस नहीं लेगी तो फसलों की कीमत बढ़ जाएगी जिससे अन्न बाजार की वस्तु बन जाएगी, भूख पर व्यापार होना शुरू हो जाएगा, एक-2 रोटी महंगी पड़ेगी। अकाल जैसे स्तिथि हो जाएगी। ऐसे में लोग बेमौत मरेंगे।

अब ये तो सभी ने सुना ही है कि हर ताले की चाबी तो होती ही है यानी हर समस्या का समाधान सम्भव है। आत्महत्या करना किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। किसानों की इस समस्या का समाधान भी है जिसमें न कोई लड़ाई लड़नी, न कोई आंदोलन करना, न किसी राजनैतिक पार्टियों का विरोध करना। बिना कुछ किये लाभ ले सकते हैं। कहते हैं जब राजा पर समस्या आती है तो वो भी अंत मे भगवान के चरणों मे ही जाता है। भगवान वो शक्ति है जो एक मुठी अन्न इस पृथ्वी लोक पर डाल दे तो कई पीढ़ियां बिना कुछ किये गुजारा कर सकती हैं। उस समर्थ शक्ति को भूलकर लोग लड़ाई, विरोध करने में लगे हैं।

हाल ही में एक महान सन्त का पता चला है जो केवल किसान या गरीब को ही नहीं बल्कि सभी देशवासियों सहित अन्य देशों की जनता को भी एक करने चले है। सबको एक लेवल पर लाकर एक समान कर देगा वो। वो सब लोगों की समस्या का समाधान एक पल में कर सकता है। उस महान सन्त पर कई भविष्यवाणियां भी हुई हैं। भविष्यवक्ताओं के अनुसार उस सन्त के आशीर्वाद में इतनी शक्ति है कि पूरा संसार उसकी रहमतों का आनंद ले सकता है।
उस सन्त के अनुसार आने वाले समय मे पैसों/माया के लिए लगी दौड़ खत्म हो जाएगी, आपसी भाईचारा बढ़ेगा, किसी को कोई दिक्कत नहीं होगी, भगवान हमेशा साथ रहेगा, समय पर वर्षा होगी, अच्छी खेती होगी।

किसान आंदोलन में खड़े होने वाले राकेश टिकैत जी तक भी उस महान सन्त- जगतगुरु तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज जी द्वारा लिखित पुस्तक- जीने की राह पहुंचाई गई है। उन्होंने बड़े ही आदर से पुस्तक स्वीकार की। पूर्ण परमात्मा सब कुछ करने में समर्थ है। उस पूर्ण परमात्मा की भक्ति करने से व्यक्ति सभी तरह के लाभ प्राप्त कर सकता है। पूर्ण परमात्मा को पाने तथा उससे लाभ लेने के लिए जगतगुरु तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज जी की शरण मे आना होगा, नाम दीक्षा लेकर अंतिम स्वांस तक मर्यादा में रहकर भक्ति करनी होगी। ऐसा करने से जीवन में आने वाली कोई भी आपत्ति को उसकी भक्ति टाल देगी। हमनें उस सन्त के बारे में और भी जाना, उनके अनुयायियों से उनके अनुभव सुने और उनकी इस बात को सच पाया। विश्व मे केवल वो ही एकमात्र सन्त हैं जो पूरी दुनिया को लाभ दे सकते हैं। देश से गरीबी खत्म करना, दहेज प्रथा पर रोक, नशे और बॉलीवुड पर रोक लगाकर देश को सही राह पर ले जाना ही उनका मिशन है। पूरे संसार को सुखी करने वाले महापुरुष हैं सन्त रामपाल जी महाराज। यदि आप भी लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो सन्त रामपाल जी महाराज जी की शरण मे आये और इस लोक में भी सुख प्राप्त करें और फिर अमर लोक यानी सतलोक में निवास पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *