World Book Day 2022 and Copyright Day [Hindi]: Theme, Essay, Quotes, History, Significance

World Book Day 2022 Hindi Quotes, Theme, Importance, History

नामस्कार दोस्तों स्वागत है आपका Tubelight talks website में, आप हम आप को World Book Day 2022 and Copyright Day के बारे में जानकारी Hindi में देंगे जैसे World Book Day essay, World Book Day क्यों मनाया जाता है?, World Book Day History in Hindi, World Book Day Quotes in Hindi, World Book Day and Copyright Day Theme

World Book and Copyright Day [Hindi]

23 अप्रैल को हर साल वर्ल्ड बुक और कॉपीराइट डे (World Book Day and Copyright Day) मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य लोगों के बीच पढ़ने की आदत को प्रोत्साहित करना और दुनिया भर के लेखकों एवं पुस्तकों को सम्मान देना है। World Book and Copyright Day का मुख्य उदेश लोगो के बीच यह जागरूकता पैदा करना है की किताबे आप की सबसे अच्छी दोस्त है.

World Book Day Essay in Hindi

जैसा आप हमने उपर बताया की ‘विश्व पुस्तक दिवस‘ प्रत्येक वर्ष 23 अप्रैल को मनाया जाता है। इसे विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस के नाम से भी जाना जाता है। इस दिवस का आयोजन संयुक्त राष्ट्र के शैक्षिक संगठन, यूनेस्को (UNESCO) द्वारा किया गया है। विश्व पुस्तक दिवस का सर्वप्रथम आयोजन 23 अप्रैल, 1995 मेँ किया गया था।

World Book Day पर सार्वजनिक पुस्तकालय (Public Library) में पुस्तक प्रदर्शनी और पुस्तकों के महत्व पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इस अवसर पर पुस्तक से संबंधित स्कूल व कॉलेज में गतिविधियां होती हैं।

Also Read: World heritage day in Hindi

भले ही जमाना कितना भी आधुनिक हो गया ही परन्तु पुस्तके आज भी मानव सभ्यता के मूल में है. इतहास इसका साक्षी है की पुस्तको के द्वारा एक पीढ़ी का ज्ञान दुसरी पीढ़ी तक फ़ैलता है. पुस्तके वे ज़रिया है जो प्रकाश-गृह की भांति है तथा जो अँधेरे में भी रोशनी कर सही दिशा दिखाती है. पुस्तको के द्वारा हम अपने पूर्वजो के ज्ञान और अनुभव को समझ पाते है. पुस्तके किसी के विचारों , संस्कारों और भावनाओं के प्रसार का सबसे शक्तिशाली साधन है.

Why do we celebrate World Book Day in Hindi


World Book Day लोगो में किताबों (books) पढने की रुचि को बढ़ावा देने के उदेश्य से मनाया जाता है, दुसरा कथन यह भी है कि World Book Day लेखक, चित्रकार के द्वारा आम लोगों के बीच में पढ़ने को प्रोत्साहन देने के लिये भी मनाया जाता है। किताबों को और पढ़ने के लिये यह विश्व स्तर का उत्सव है जो लगभग 100 से ज्यादा देशों में मनाया जाता है

World Book Day History in Hindi

World Book Day History: जैसा की हमने आप को उपर बताया की दुनिया भर में विश्‍व पुस्‍तक दिवस हर साल 23 अप्रैल को मनाया जाता है. इस दिन को World Copyright Day भी कहते हैं. किताबों को पढ़ने वाले और चाहने वालों के लिए आज का दिन बहुत खास है. UNESCO ने 23 अप्रैल 1995 को इसकी शुरुआत की थी. World Book Day पहली बार 1995 में पेरिस में हुई यूनेस्‍को की जनरल कॉन्‍फ्रेंस में मनाया गया था.

किताबों की तरफ लोगों को खींचने की कोशिश 

इसके अलावा इस दिन यूनेस्को और इसके अन्‍य सहयोगी संगठन आगामी वर्ष के लिए ‘वर्ल्ड बुक कैपिटल’ का चयन करते हैं. इसका उद्देश्य है कि अगले एक वर्ष के लिए किताबों से संबंधित होने वाले कार्यक्रम आयोजित हों. आने वाली नई किताबों को लेकर पाठकों को जागरूक किया जा सके. उनका रुझान अधिक से अधिक किताबों की तरफ करने की कोशिश रहती है.  

Read in English | On World Book And Copyright Day Read Sant Rampal Ji’s Sacred Books

कैसे मनाया जाता है ये दिन

यह दिन दुनियाभर में अलग-अलग रूप में मनाया जाता है। कहीं लोगों को इस दिन के बारे में जागरूक करने के लिए किताबें बांटी जाती हैं तो कही किताब पढ़ने की प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। स्कूल और कॉलेजों में राइटिंग कम्पटिशन का आयोजन किया जाता है।
 

साक्षरता को बढ़ावा देना भी मकसद

किताबों के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ इस दिन को मनाने का एक खास मकसद ये भी है कि इस दिन के सहारे लोगों को साक्षरता के बारे में जागरूक किया जाता है।  साक्षरता को बढ़ावा देना भी इस दिन का मकसद होता है।  

World Book Day Significance & Importance Hindi

  • World Book Day से लगभग 100 देशों से अधिक इच्छुक लोग ऐच्छिक संगठनों, विश्वविद्यालयों स्कूलों, सरकारी समूहों, निजी व्यापार आदि जुड़ें है
  • विश्व पुस्तक और कॉपीरइट दिवस उत्सव विश्व भर के सभी महाद्वीपों और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि को अपनी ओर आकर्षित करता है।
  • ये लोगों को नये विचार को खोजने और अपने ज्ञान को फैलाने में सक्षम बनाता है।
  • किताबें विरासत का ख़जाना, संस्कृति, ज्ञान की खिड़की, संवाद के लिये यंत्र, संपन्नता का स्रोत आदि हैं

World Book Day Theme 2022 [Hindi]

विश्व पुस्तक दिवस के मौके पर पुस्तकों के प्रति लोगों को आकर्षित और उनमें लगाव उत्पन्न करने के लिए यूनेस्को द्वारा थीम जारी की जाती है।  इस वर्ष की थीम अभी तक जारी नहीं की गई है। वर्ष 2021 की थीम ‘To share a story’ ‘एक कहानी साझा करें’ है

“Books have the unique ability both to entertain and to teach. They are at once a means of exploring realms beyond our personal experience through exposure to different authors, universes and cultures, and a means of accessing the deepest recesses of our inner selves.”

Audrey Azoulay

World Book Day Quotes 2022 in Hindi

“पुस्तकें प्रकाश-गृह की भांति है जो अँधेरे में भी रोशनी कर सही दिशा दिखाती है।

World Book Day Quotes in Hindi

“किताबे आप की सबसे अच्छी दोस्त है”.

World Book Day Quotes in Hindi

“अगर किसी को एक किताब बार-बार पढ़ना खुशी नहीं दे सकता तो, उसको पूरा पढ़ने का कोई उपयोग नहीं है।”- ऑस्कर विल्डे

ऑस्कर विल्डे

“एक किताब को खत्म करना एक अच्छे दोस्त को छोड़ने के सामान है।”- विलियम फीदर

किताबें ज्ञान का वह भंडार है, जिसे बांटने से वह और बड़ता है.

World Book Day 2022 : किताबो के पन्नों की तरह आसानी से पलट सकती है जिंदगी 

संत रामपाल जी महाराज जी द्वारा लिखी पुस्तक “जीने की राह” मानव जीवन को आसान बनाने में अद्वितीय है। इसको पढ़ने वाले की जीवन यात्रा आसान हो जाती है। लाखों लोगों ने पढ़कर नशा मुक्ति, चोरी जारी, जुआ, व्यभिचार और अनेकों अवगुणों को त्याग कर मुख्य धारा की राह पकड़ कर अपना जीवन सफल बनाया हैं ।

संत रामपाल जी महाराज जी विश्व कल्याण मिशन के तहत लाखों दहेज मुक्त शादियां (रमैनी) करा चुके हैं, रक्त दान, देहदान और भी परमार्थ के कार्य में उनका स्थान अद्वितीय है। करोड़ों लोगों ने ” ज्ञान गंगा” के माध्यम से उनसे उपदेश प्राप्त करके अपना और अपनों का मानव जीवन सफल बनाया है। आप जी भी उनके द्वारा चलाए जा रहे इस विश्व कल्याण मिशन में अपना योगदान दे सकते हैं। आप Sant Rampal Ji Maharaj App download करके उनके तत्वज्ञान को समझ सकते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

17 − one =