World Heart Day 2022 [Hindi] | क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड हार्ट डे, क्या है इसका इतिहास और महत्व

World Heart Day 202 [Hindi] Theme, Quotes, History, Importance

World Heart Day 2022 [Hindi]: हर साल 29 सितंबर का दिन  World Heart Day के तौर पर मनाया जाता है. इस दिन को मनाने का मकसद है ह्रदय रोगों के खिलाफ लोगों को जागरूक करना, क्योंकि दुनिया भर में हर साल लाखों लोग हृदय रोग से मर जाते हैं. वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन द्वारा वर्ल्ड हार्ट डे मनाने की शुरुआत हुई. ताकि लोगों को हृदय रोगों के खिलाफ जागरूक किया जा सके. वर्ष 2000 में पहली बार वर्ल्ड हार्ट डे मनाया गया.  यह एक वैश्विक अभियान है जिसके माध्यम से लोगों को यह बताया जाता है कि हृदय रोग (सीवीडी) से कैसे बचा जा सकता है.

विश्व हृदय दिवस क्यों मनाया जाता है?

विश्व हृदय दिवस के आसपास की चर्चा सबसे ज्यादा जरूरी है क्योंकि दिल के दौरे और दिल से जुड़े अन्य मामलों की बढ़ती संख्या के कारण ज्यादा से ज्यादा लोग इन हृदय संबंधी मुद्दों से प्रभावित हो रहे हैं। अनहेल्दी खाने की आदतें और एक गतिहीन जीवन शैली भी सभी उम्र के लोगों के लिए जरूरी है और इसके बारे में जागरूकता जरूरी है।

World Heart Day का इतिहास (History)

विश्व स्वास्थ्य दिवस की स्थापना पहली बार 1999 में वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन (World Heart Federation – WHF) ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के सहयोग से की थी. वार्षिक आयोजन का विचार 1997-2011 तक WHF के अध्यक्ष एंटोनी बेयस डी लुना द्वारा कल्पना की गई थी. शुरुआत में ये दिन सितंबर के आखिरी रविवार को मनाया जाता था, जिसका पहला उत्सव 24 सितंबर, 2000 को हुआ था.

वर्ल्ड हार्ट डे 2022 की थीम (Theme for World Heart Day in Hindi)

हर साल विश्व हृदय दिवस को एक थीम के तहत मनाया जाता है. इस साल 2022 में विश्व हृदय दिवस की थीम “यूज हार्ट फॉर एवरी हार्ट” Use Heart for Every Heart है. विश्व हृदय दिवस की स्थापना के बाद से हर साल, विश्व स्तर पर हृदय स्वास्थ्य जागरूकता अभियान को बढ़ावा देने के लिए एक विशिष्ट विषय के इर्द गिर्द ये दिन मनाया जाता है. इस के साथ स्लोगन, इस दिवस का महत्व, कुछ कॉमन मिथक और शुभकामना संदेश भी दिए जाते हैं.

विश्व हृदय दिवस का महत्व (Importance of World Heart Day)

दुनियाभर में किए जा रहे शोध व सर्वे रिपोर्ट में यह खुलासा हो रहा है कि आजकल कम उम्र के लोगों को भी हार्ट अटैक की समस्या हो रही है. ऐसे में World Heart Day का मुख्य उद्देश्य लोगों को अपने हार्ट के प्रति सतर्क करना है. विश्व हृदय दिवस महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपके दिल से संबंधित है. इसलिए आपको अपने आप से सवाल करने की जरूरत है. कि आप अपने दिल को हैप्पी और हेल्दी रखने के लिए क्या कर सकते हैं और उसके अनुसार कार्य करें. अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव कर और नियमित खानपान से अपने को हेल्दी रख सकते हैं.

■ Also Read | World Pharmacist Day [Hindi]: क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड फार्मासिस्ट डे, क्या है इसका इतिहास?

हृदय रोग का मुख्य कारण (Main Reason for Heart Attack)

World Heart Day 2022 [Hindi]: हृदय रोग का सबसे मुख्य कारण होता है शरीर में कोलेस्ट्राल का बढ़ना माना जाता है. आज के समय में लोग फिजिकली एक्टिविटी न के बराबर करते हैं. जिसके चलते बढ़ता मोटापा भी बड़ी समस्या के रुप में उभरा है. बदलती लाइफस्टाइल इसके लिए ज्यादा जिम्मेदारी है. ज्यादा वजन बढ़ने से भी हृदय संबंधित समस्याओें को खतरा बढ़ जाता है, इसलिए दिल को स्वस्थ रखना बहुत जरुरी हो गया है. अपनी जीवन शैली में बदलाव करके और अच्छी आदतें डालकर  इस घातक रोग से बचा जा सकता है.

कोविड के बाद हार्ट अटैक के मामलों में बढ़ोत्तरी

डॉक्टरों के मुताबिक कोविड के बाद की अवधि में दिल का दौरा और दिल की विफलता के मामलों में काफी बढ़ोत्तरी हुई है.फरीदाबाद के सर्वोदय अस्पताल के एसोसिएट डायरेक्टर -कार्डियोलॉजी, डॉ. एलके झा के मुताबिक महामारी के बाद, कोविड से संक्रमित लोगों में दिल के दौरे और दिल की विफलता की घटनाओं में 25-30% की वृद्धि हुई है. 

Read in English | World Heart Day: Know How to Keep Heart Healthy

जिन मरीजों को कोविड के कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़ा या वेंटिलेटर पर रखा गया, वे अब हृदय संबंधी जटिलताओं के प्रति अधिक संवेदनशील हैं. उनके मुताबिक ऐसे मामलों में काफी वृद्धि देखी जा रही है.

हर साल 17 मिलियन लोगों की होती है मौत

World Heart Day 2022 [Hindi]: आंकड़े कुछ चौंकाने वाले हैं कि हर साल पूरी दुनिया में करीब 17 मिलियन लोगो की मौत सिर्फ दिल की बीमारी के चलते होती है. इन मौतों का मुख्य कारण कोरोनरी हार्ट स्ट्रोक है. सीवीडी यानी हृदय रोग को लेकर एक गलत धारणा बनी हुई है कि यह विकसित देशों के लोगों को ज्यादा प्रभावित करता है. लेकिन आपको बता दें कि हृदय रोग से 80 फीसदी से भी ज्यादा मौतें मध्यम और निम्न आय वाले देशों में होती हैं.

World Heart Day 2022 [Hindi]: दिल की बीमारी के ये हैं मुख्य कारण

हृदय रोग का मुख्य कारण धूम्रपान, खराब डाइट और व्यायाम की कमी है. वर्ल्ड हार्ट डे के मौके पर हर साल 90 से भी ज्यादा देश हिस्सा लेते हैं. इस दिन को मनाने का मुख्य मकसद लोगों को दिल की होने वाली बीमारी के प्रति जागरुक करना है. इसके साथ ही, हार्ट को सवस्थ्य रखने के लिए उचित आहार और व्यायाम की सलाह देना है.

पौष्टिक आहार का सेवन बहुत आवश्यक

हृदय रोगों के जोखिम को कम करने में आहार महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जंक और प्रोसेस्ड फूड के बजाय फलों, हरी पत्तेदार सब्जियों, दाल, प्रोटीन युक्त खाद्य और नट्स को आहार में नियमित रूप से शामिल किया जाना चाहिए। हृदय की बीमारियों के जोखिम से बचे रहने के लिए तैलीय भोजन, अधिक नमक वाली चीजों के सेवन से बचा जाए। उन चीजों से परहेज करने की सलाह दी जाती है जो कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप को बढ़ावा देती हैं। स्वस्थ आहार का पालन करके हृदय को स्वस्थ रखा जा सकता है।

World Heart Day 2022 [Hindi]: हार्ट अटैक से पहले के लक्षण 

1. बैचेनी महसूस होना 

कई बार लोगों को अचानक से बैचेनी सी होने लगती है लेकिन वो इसे नॉर्मल समझ कर नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन रात या सुबह के समय अगर आपका मन बैचेन सा होने लगता है तो सावधान हो जाएं।  ऐसे में तुरंत किसी डॉक्टर के पास जाएं।

2. सीने में दर्द महसूस होना

सीने में दर्द होना हार्ट अटैक का सबसे बड़ा लक्षण है। इसलिए पेट और सिर की तरह सीने के दर्द को अनदेखा न करें। छाती पर भारीपन, जकड़न और दबाव जैसा अगर महसूस हो रहा है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें और समय रहते इसका इलाज करवाएं।

3. अचानक पूरे शरीर में पसीना आना 

गर्मी नहीं है और फिर भी आपका शरीर पसीने से भिगा हुआ है तो सर्तक हो जाएं। सुबह और रात में ठंडा पसीना आना हार्ट फेलियर का संकेत हो सकता है। ऐसी स्थिति में जल्द से जल्द डॉक्टर के पास जाएं, जिससे समय रहते आपका इलाज शुरू हो सके।

4. अधिक थकान होना या सांस फूलना

थकान लगने का कारण हम अधिक काम को मान लेते हैं लेकिन कई बार ये हमारे दिल का सिग्नल भी होता है। दरअसल, जब दिल की किसी नली में इंफेक्शन या सूजन आ जाता है तब शरीर में थकान महसूस होने लगती है। यह लक्षण दिल के कमजोर होने का है। वहीं अगर कोई भी फिजिकल एक्टिविटी करने पर सांस फूलने लगती है तो इसे भी अनदेखा न करें। सांस फूलना हार्ट अटैक की सबसे बड़ी चेतावनी है। तो समय रहते अपने दिल की बातों और लक्षणों को समझें और डॉक्टर से सलाह लें.

कैसे रखें अपने हृदय का ख्याल ?

  • रोजाना नियमित रूप से व्यायाम और एक्सरसाइज करें।
  • अपने खाने का विशेष ध्यान रखें, संतुलित और पौष्टिक आहार लें, फास्टफूड और तला-भूना खाने से बचे, खाने में नमक की मात्रा कम रखें और अपनी डाइट में हरी सब्जियों और मौसमी फलों को शामिल करें। 
  • किसी भी तरह का तनाव या टेंशन ना लें और अगर ऐसा हो तो योग का सहारा लें।
  • धूम्रपान का सेवन बिल्कुल ना करें क्योंकि ये हृदय सम्बन्धी बीमारियों के साथ-साथ कई अन्य बीमारियों का भी कारण है। 
  • एक अच्छे और स्वस्थ जीवन के लिए भरपूर और पर्याप्त नींद लें।

विश्व हृदय दिवस पर जानें अपने दिल के बारे में (Things to Know this World Heart Day 2022)

  • हार्ट एक मुट्ठी के आकार का होता है और यह शरीर की सबसे मजबूत मांसपेशी है| 
  • किसी बच्चे के गर्भ में प्रवेश करने के तीन सप्ताह बाद दिल धड़कने लगता है| 
  • यदि कोई व्यक्ति 70 वर्षों तक जीवित रहता है तो उसका दिल लगभग ढाई अरब बार धड़क चूका होगा| 
  • हर दिल की धड़कन के साथ, हृदय शरीर के हर हिस्से में ऑक्सीजन और पोषक तत्वों को लेकर रक्त पंप करता है| 
  • हृदय प्रतिदिन लगभग 1 लाख बार धड़कता है और 7500 लीटर रक्त पंप करता है|

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Tubelighttalks इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × 5 =